सूती धागे के दाम मई में घोषित होंगे, कपड़ा मिलों को दाम घटने की उम्मीद

सूती धागे के दाम मई में घोषित होंगे, कपड़ा मिलों को दाम घटने की उम्मीद
सूती धागे के दाम मई में घोषित होंगे, कपड़ा मिलों को दाम घटने की उम्मीद चेन्नई, 28 अप्रैल (आईएएनएस)। तमिलनाडु के कपड़ा मिलों को इस बार उम्मीद है कि सूती धागों के दाम घटेंगे। मई में सूती धागों के दाम घोषित होने हैं।

तमिलनाडु में अभी सभी वेराइटी के सूती धागे की कीमतें 400 रुपये प्रति किलोग्राम हैं।

कारोबारियों को इस बार उम्मीद है कि सूती धागे की कीमतों में कमी आयेगी क्योंकि इस साल राज्य में कपास की पैदावार अच्छी हुई है।

तिरुनुर जिले के मुलानूर कॉटन बाजार में राज्य के डिंडिगुल, तिरुचि, इरोड और कोयम्बटूर जिलों से कपास की खेप आनी शुरू हो गयी हैं।

इस बाजार के वरिष्ठ अधिकारी एम दीनाकरन ने आईएएनएस को कहा कि पिछले कुछ दिनों में बाजार में कॉटन के दस हजार से अधिक बैग पहुंचे हैं। हर बैग में 30 से 40 किलोग्राम कपास होता है। बाजार में इतनी बड़ी मात्रा में कपास की आवक यह दिखाती है कि कपास की कीमतों में कमी आयेगी। इससे कपड़ा उद्योग को बढ़ावा मिलेगा।

उन्होंने बताया कि पिछले साल की समान अवधि में एक सप्ताह में मुलानूर बाजार में सिर्फ सात से आठ हजार बैग ही पहुंचे थे।

आमतौर पर बाजार में काॉटन की आवक मई या जून में शुरू होती है लेकिन इस साल एक अप्रैल से ही आवक शुरू हो गयी है। किसानों ने अच्छी बारिश की संभावना के कारण कपास की बुवाई का रकबा बढ़ा दिया है।

तिरुपुर निर्यातक संघ के अधिकारी राजा शनगुगम ने आईएएनएस को कहा कि कपड़ा उद्योग के लिये अप्रैल में अच्छी मात्रा में कपास की आवक अच्छा संकेत है। केंद्र सरकार ने कॉटन से ड्यूाटी हटा दी है, जिसके कारण आवक बढ़ गयी है। कपड़ा उद्योग के पास कच्चा माल अच्छी मात्रा में होगा तो पूरा उद्योग विकसित होगा।

--आईएएनएस

एकेएस/एएनएम

Share this story