अमेठी पुलिस को बदमाशों ने दी खुली चुनौती, प्रौढ़ को बाइक सवार बदमाशों ने गोली मारी, हुई मौत

रिपोर्ट:शिवकेशशुक्ला


कोरोना जैसी महामारी के वक्त जब पुलिस ही पुलिस जनता की सुरक्षा के लिए सड़को पर न केवल दिन में दिखाई दे रही है बल्कि रात में भी 8 बजे से सुबह 7 बजे तक नाइट कर्फ्यू का पालन कराने के लिए सड़कों पर रहती है उस वक्त बाइक सवार बेखौफ बदमाशों द्वारा एक प्रौढ़ को गोली मार दी जाती है जिसकी इलाज के लिए ट्रामा सेंटर ले जाते समय रास्ते में मौत हो गई। इससे समझा जा सकता है कि अमेठी पुलिस चाक चौबंद और मुस्तैद है या सिर्फ ड्यूटी कर खाना पूर्ति कर रही है।

मामला अमेठी के मोहनगंज थानाक्षेत्र के फूला गांव का है जहां रात 10 बजे अचानक गोलियों की तड़तड़ाहट से पूरा गांव गूंज उठा। जबतक लोग घरों के निकलते तब तक घटना को अंजाम देकर बदमाश मौके से भाग चुके थे। ग्रामीण जब मौके पर पहुंचे तो गांव निवासी लल्लन सिंह लहूलुहान अवस्था में जमीन पर पड़े हैं।

ग्रामीणों ने परिजनों व पुलिस को सूचना दिया और घायल लल्लन सिंह को लेकर सामुदायिक सीएचसी तिलोई पहुंचे जहां डॉक्टरों ने प्राथमिक उपचार करते हुए लल्लन सिंह के शरीर से अधिक खून बह जाने के कारण उन्हें ट्रामा सेंटर रेफर कर दिया। ट्रॉमा सेंटर ले जाते समय रास्ते में लल्लन सिंह की मौत हो गई। परिजनों के अनुसार, मृतक लल्लन सिंह नवनिर्वाचित ग्राम प्रधान सरजू प्रसाद के घर आयोजित मुण्डन संस्कार में शामिल होने गए थे वहां से वापस घर लौटते समय अज्ञात बदमाशों ने उन्हें गोली मार दी।

फिलहाल पुलिस ने हालात के मद्देनजर गांव में बड़ी संख्या में फोर्स लगाई गई है। पुलिस का कहना है कि घटना के पीछे चुनावी रंजिश की बात सामने आ रही है। विधिक कार्यवाही करते हुए हर पहलू पर जांच जारी है। सुरक्षा व्यवस्था के लिए गांव में पुलिस बल तैनात कर दिया गया है।

Share this story