आंध्र प्रदेश ने असानी से प्रभावित जिलों में 454 राहत शिविर खोले

आंध्र प्रदेश ने असानी से प्रभावित जिलों में 454 राहत शिविर खोले
आंध्र प्रदेश ने असानी से प्रभावित जिलों में 454 राहत शिविर खोले अमरावती, 11 मई (आईएएनएस)। आंध्र प्रदेश सरकार ने बंगाल की खाड़ी में चक्रवाती तूफान असानी से प्रभावित होने वाले सात जिलों में 454 राहत शिविर खोले हैं।

राज्य सरकार प्रत्येक परिवार को 2,000 रुपये या राहत शिविरों में आने वाले प्रत्येक व्यक्ति को 1,000 रुपये देगी।

मुख्यमंत्री वाई. एस. जगन मोहन रेड्डी ने बुधवार को जिला कलेक्टरों और पुलिस अधीक्षकों के साथ चक्रवात की स्थिति की समीक्षा की।

उन्होंने अधिकारियों को यह सुनिश्चित करने का निर्देश दिया कि कोई हताहत न हो। उन्होंने कहा कि निचले इलाकों से लोगों को निकाला जाए और उनकी जरूरतों का ध्यान रखा जाए।

उन्होंने अधिकारियों से राहत शिविरों को आवश्यक वस्तुओं और डीजल जनरेटर से लैस करने के लिए कहा।

रेड्डी ने पिछले महीने 13 नए जिलों (कुल 26) के निर्माण का जिक्र करते हुए कहा, इस साल चक्रवात से बेहतर तरीके से निपटा जा सकता है, क्योंकि जिलों को विभाजित किया गया है और छोटे क्षेत्रों को बनाए रखा जा रहा है।

इस बीच, आंध्र प्रदेश राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण ने कहा कि चक्रवाती तूफान मछलीपट्टनम से लगभग 40 किमी, काकीनाडा से 140 किमी और विशाखापत्तनम से 280 किमी दूर केंद्रित है। इसके अगले कुछ घंटों में अंतर्वेदी के पास पहुंचने की संभावना है।

भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) के अनुसार, चक्रवाती तूफान के दोपहर से शाम के दौरान नरसापुर, यनम, काकीनाडा, तुनी और विशाखापत्तनम तटों के साथ उत्तर पूर्व की ओर बढ़ने और रात में उत्तरी आंध्र प्रदेश के तटों से पश्चिम-मध्य बंगाल की खाड़ी में उभरने की संभावना है।

इसके 12 मई की सुबह तक धीरे-धीरे कमजोर होकर डिप्रेशन में बदलने की संभावना है। चक्रवाती तूफान मछलीपट्टनम के डॉपलर वेदर रडार (डीडब्ल्यूआर) की निरंतर निगरानी में है।

--आईएएनएस

एकेके/एसकेपी

Share this story