उत्तराखंड में दुर्गम स्कूलों में 15 अगस्त से पहले होंगी 449 शिक्षकों की नियुक्तियां

उत्तराखंड में दुर्गम स्कूलों में 15 अगस्त से पहले होंगी 449 शिक्षकों की नियुक्तियां
उत्तराखंड में दुर्गम स्कूलों में 15 अगस्त से पहले होंगी 449 शिक्षकों की नियुक्तियां देहरादून, 3 अगस्त (आईएएनएस)। दूरस्थ क्षेत्रों के स्कूलों में शिक्षकों की कमी की समस्या दूर करने के लिए उत्तराखंड के शिक्षा मंत्री डॉ. धन सिंह रावत ने निर्देश जारी किए हैं। उन्होंने कहा कि विभाग को राज्य लोक सेवा आयोग से 449 टीचर मिले हैं जिन्हें दुर्गम और अति दुर्गम क्षेत्रों के स्कूलों में तैनाती दी जाएगी।

धन सिंह रावत ने राज्य लोक सेवा आयोग से चयनित 449 शिक्षकों को 15 अगस्त से पहले नियुक्ति देने के निर्देश दिए हैं। विभागीय मंत्री ने कहा कि लेक्च रर को दुर्गम और अति दुर्गम क्षेत्रों के स्कूलों में पांच साल के लिए तैनाती दी जाएगी। जिससे दूरस्थ क्षेत्रों के स्कूलों में शिक्षकों की कमी की समस्या दूर होगी।

शिक्षा मंत्री ने कहा कि सामान्य शाखा के तहत दुर्गम श्रेणी के स्कूलों में अंग्रेजी विषय के 64, हिंदी के 81, संस्कृत के 18, भौतिक विज्ञान के 46, रसायन विज्ञान के 42, गणित के 6, जीव विज्ञान के 35, नागरिक शास्त्र के 38, अर्थशास्त्र के 74, इतिहास के 8, भूगोल के 17, समाजशास्त्र के 6, कला, मनोविज्ञान एवं कृषि के एक-एक शिक्षक की तैनाती की जाएगी। इसके अलावा बालिका इंटर कालेजों में हिंदी विषय के दो, रसायन विज्ञान, जीव विज्ञान एवं अर्थशास्त्र के 3-3 शिक्षिकाओं को नियुक्ति दी जाएगी।

शिक्षा मंत्री डा. धन सिंह रावत ने कहा कि विभाग में गंभीर बीमार शिक्षकों को सुगम क्षेत्र के स्कूलों में तैनाती दी जाएगी। राज्य चिकित्सा बोर्ड की बैठक के बाद बोर्ड के प्रमाण पत्र के आधार पर शिक्षकों को तैनाती दी जाएगी।

--आईएएनएस

स्मिता/एसकेपी

Share this story