जामिया की टीम ने जीता जलवायु अनुकूल सोलर डेकाथलॉन इंडिया हाउसिंग कम्पटीशन

जामिया की टीम ने जीता जलवायु अनुकूल सोलर डेकाथलॉन इंडिया हाउसिंग कम्पटीशन
जामिया की टीम ने जीता जलवायु अनुकूल सोलर डेकाथलॉन इंडिया हाउसिंग कम्पटीशन नई दिल्ली, 10 मई (आईएएनएस)। जामिया के छात्रों ने कंस्ट्रक्शन वर्कर्स के लिए जलवायु अनुकूल क्लीन एनर्जी वाले बेहतर घर बनाने का नवाचार किया है। इसके लिए विश्वविद्यालय के छात्रों को हाउसिंग कंम्पटीशन अवार्ड से सम्मानित किया गया है।

जामिया मिलिया इस्लामिया की टीम नेक्सा को ऑन-साइट कंस्ट्रक्शन वर्कर हाउसिंग श्रेणी में यह प्रतिष्ठित हाउसिंग कम्पटीशन अवार्ड से सम्मानित किया गया। उनका रियल एस्टेट पार्टनर लार्सन एंड टर्बो है।

सोलर डेकाथलॉन इंडिया 2021-22, एक वार्षिक चैलेंज, जिसका उद्देश्य भवनों के क्षेत्र में जलवायु परिवर्तन से निपटने के लिए नेट-जीरो लीडर्स की नैक्सट जनरेशन का निर्माण करना है। यह चैलेंज 9 महीने तक चली और इस साल 99 टीमों ने प्रतिस्पर्धा की, जिसमें 109 संस्थानों के 1300 से अधिक छात्र थे।

इन छात्रों को 165 फैकल्टी सलाहकारों द्वारा निर्देशित किया गया था। इस वर्ष, टीमों ने 6 प्रतियोगिता डिवीजनों में डिवीजन पुरस्कार के लिए प्रतिस्पर्धा की: मल्टी-फैमिली हाउसिंग, सिंगल-फैमिली हाउसिंग, एजुकेशनल बिल्डिंग, ऑफिस बिल्डिंग, कम्युनिटी रेजिलिएशन शेल्टर और ऑन-साइट कंस्ट्रक्शन वर्कर हाउसिंग। टीमों द्वारा प्रस्तुत एंट्री और उनकी प्रस्तुतियों का मूल्यांकन उद्योग के विशेषज्ञों की एक जूरी द्वारा किया गया था। डिवीजनों के विजेताओं ने अपनी परियोजनाओं को एक ग्रैंड जूरी में रखा, जिसमें प्रसिद्ध रियल-एस्टेट कंपनियों के विशेषज्ञ शामिल थे।

डिवीजन विजेताओं को 40,000 रुपये का नकद पुरस्कार मिलेगा और उपविजेता टीमों को 20,000 रुपये का नकद पुरस्कार मिलेगा। एक वर्चुअल इवेंट के माध्यम से इस साल के विजेताओं की घोषणा की। अस्वथ रमन, यूसीएलए में मेटेरियल साइंस और इंजीनियरिंग के सहायक प्रोफेसर ने भूषण की।

सोलर डेकाथलॉन इंडिया का आयोजन इंडियन इंस्टीट्यूट फॉर ह्यूमन सेटलमेंट्स और एलायंस फॉर ए एनर्जी एफिशिएंट इकोनॉमी द्वारा इंडो-यूएस साइंस एंड टेक्नोलॉजी फोरम के तत्वावधान में गया। इस कार्यक्रम में युवा लीडर्स को क्लीन एनर्जी के क्षेत्र में सक्षम बनाने के लिए एक इंटर्नशिप फेयर का भी आयोजन किया गया। सोलर डेकाथलॉन इंडिया 2021-22 में 30 से अधिक ऑर्गेनाईजेशन चैलेंज प्रतिभागियों को अवसर प्रदान करने के लिए शामिल रहे।

--आईएएनएस

जीसीबी/एएनएम

Share this story