जारी हो रहे हैं सीयूईटी एडमिट कार्ड, बाढ़ प्रभावित छात्रों के परीक्षा केंद्रों में बदलाव: यूजीसी चेयरमैन

जारी हो रहे हैं सीयूईटी एडमिट कार्ड, बाढ़ प्रभावित छात्रों के परीक्षा केंद्रों में बदलाव: यूजीसी चेयरमैन
जारी हो रहे हैं सीयूईटी एडमिट कार्ड, बाढ़ प्रभावित छात्रों के परीक्षा केंद्रों में बदलाव: यूजीसी चेयरमैन नई दिल्ली, 1 अगस्त (आईएएनएस)। देशभर के करीब 7 लाख छात्रों को कॉमन यूनिवर्सिटी एंट्रेंस टेस्ट (सीयूईटी) के दूसरे दौर की परीक्षाओं का इंतजार है। यह परीक्षाएं 4 अगस्त से शुरू होनी है। यूजीसी के अध्यक्ष प्रो. एम. जगदीश कुमार ने कहा कि जिन उम्मीदवारों की परीक्षा 04, 05 और 06 अगस्त को निर्धारित है, उनके परीक्षा केंद्र का विवरण दिखाते हुए दूसरे चरण के प्रवेश पत्र सोमवार से जारी किए जा रहे हैं।

यूजीसी चेयरमैन ने आईएएनएस को बताया कि कुछ अभ्यावेदन उन अभ्यर्थियों के भी प्राप्त हुए, जिनकी इस अवधि के दौरान अन्य प्रवेश और प्रतियोगी परीक्षाएं हैं, या फिर जो बाढ़ आदि से प्रभावित हुए हैं। ऐसे अनुरोधों पर विचार किया गया है और उनके शहर व तारीख को बदल दिया गया है।

यूजीसी चेयरमैन ने बताया कि उम्मीदवारों को उनकी पहली (पहले की) पसंद का शहर उपलब्ध कराने का हर संभव प्रयास किया जा रहा है। हालांकि, किसी शहर में पंजीकृत उम्मीदवारों की अपर्याप्त संख्या या सुरक्षित नोड्स की अपर्याप्त संख्या के कारण, कुछ मामलों में एक अलग शहर आवंटित किया जा सकता है। यह एनटीए की नीति के तहत किया जा रहा है।

प्रो. कुमार ने कहा कि ऐसे उम्मीदवारों को या तो अब आवंटित अलग शहर में परीक्षा सुविधा का लाभ उठाने का विकल्प दिया गया है, या बाद की तारीख यानी 10 अगस्त 2022 के बाद पहले के शहर में उपस्थित होने के विकल्प का उपयोग करने का विकल्प दिया गया है। इन उम्मीदवारों से अनुरोध है कि वे उनके प्रवेश पत्र डाउनलोड करने से पहले इस विकल्प का प्रयोग करें।

परीक्षाएं आयोजित करवा रही नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (एनटीए) के मुताबिक अगले एक-दो दिन के भीतर सभी छात्रों को एडमिट कार्ड जारी कर दिए जाएंगे। एनटीए का कहना है कि फिलहाल विभिन्न परीक्षाओं के कारण उनकी वेबसाइट पर प्रतिदिन लाखों क्लिक हो रहे हैं। वेबसाइट पर ट्रैफिक अधिक होने के कारण कई बार छात्रों को समस्या भी हुई है।

कॉलेजों के अंडर ग्रेजुएट पाठ्यक्रमों में दाखिले के लिए कॉमन यूनिवर्सिटी एंट्रेंस टेस्ट (सीयूईटी) आयोजित किया जा रहा है। सीयूईटी (यूजी) के लिए देश और देश के बाहर कुल मिलाकर लगभग 14 लाख 90 हजार उम्मीदवारों ने पंजीकरण करवाया है। 15 जुलाई को शुरू हुए पहले स्लॉट में लगभग 8 लाख 10 हजार उम्मीदवार परीक्षा दे चुके हैं। पहले स्लॉट की परीक्षाएं पूरी होने के बाद अब 4 अगस्त से दूसरे स्लॉट में लगभग 6 लाख अस्सी हजार उम्मीदवार कॉमन यूनिवर्सिटी एंट्रेंस टेस्ट देंगे।

सीयूईटी के पहले और दूसरे स्लॉट के बीच जेईई मेंस की परीक्षाएं ली गई हैं। नेशनल टेस्टिंग एजेंसी के मुताबिक जेईई मेन परीक्षा के कारण बीच में ब्रेक दिया गया है। ब्रेक के उपरांत दूसरे स्लॉट की परीक्षाएं 4 से 10 अगस्त तक चलेगी। गौरतलब है कि इन परीक्षाओं में अधिकांश छात्रों को उनके मन चाहे परीक्षा केंद्र आवंटित करने का प्रयास किया जा रहा है। यूजीसी के चेयरमैन एम जगदीश कुमार के मुताबिक लगभग 98 प्रतिशत छात्रों को उनके मन चाहे परीक्षा केंद्र आवंटित करने की व्यवस्था की गई है।

दरअसल इस वर्ष केंद्रीय विश्वविद्यालयों से जुड़े कॉलेजों में दाखिले के लिए सीयूईटी कि यह परीक्षा पास करना अनिवार्य है। इसके अंतर्गत दिल्ली विश्वविद्यालय, जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय, जामिया मिलिया इस्लामिया, बनारस हिंदू विश्वविद्यालय समेत सभी केंद्रीय विश्वविद्यालयों को शामिल किया गया है। यूजीसी के मुताबिक यह परीक्षा पास करने वाले छात्र 43 केंद्रीय विश्वविद्यालयों समेत 90 विभिन्न विश्वविद्यालयों में दाखिले के लिए पात्र माने जाएंगे।

नेशनल टेस्टिंग एजेंसी के मुताबिक बड़ी संख्या में विषयों को ध्यान में रखते हुए, उम्मीदवारों के लिए विशिष्ट डेटशीट बनाई गई है। जल्द ही दूसरे स्लॉट की परीक्षा में शामिल होने वाले सभी उम्मीदवारों को उनकी परीक्षा की तारीख और परीक्षा के शहर के साथ यह सूचना जारी की जाएगी।

यह परीक्षाएं राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय दोनों स्तर पर आयोजित की जा रही हैं। भारत में यह परीक्षाएं करीब 554 शहरों और भारत के बाहर 10 शहरों में यह परीक्षा ली जा रही है।

--आईएएनएस

जीसीबी/एएनएम

Share this story