जेईई पेपर लीक पर एनएसयूआई का विरोध प्रदर्शन, उच्चतम न्यायालय के न्यायाधीश की देखरेख में उठाई जांच की मांग

जेईई पेपर लीक पर एनएसयूआई का विरोध प्रदर्शन, उच्चतम न्यायालय के न्यायाधीश की देखरेख में उठाई जांच की मांग
जेईई पेपर लीक पर एनएसयूआई का विरोध प्रदर्शन, उच्चतम न्यायालय के न्यायाधीश की देखरेख में उठाई जांच की मांग नई दिल्ली, 6 सितम्बर (आईएएनएस)। एनएसयूआई कार्यकर्ताओं ने दिल्ली में शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान के घर के बाहर प्रदर्शन किया और जे.ई.ई पेपर लीक मामले में जल्द से जल्द जांच उच्चतम न्यायालय के न्यायाधीश की देखरेख में की कराने की मांग की।

वहीं एनएसयूआई के अनुसार, यदि इस मामले को जल्द नहीं सुलझाया गया और आरोपियों को सजा नहीं दी गयी तो यह छात्र वर्ग में असंतोष की भावना पैदा करेगा। वहीं पेपर लीक की इस घटना के बाद नेशनल टेस्टिंग एजेन्सी द्वारा करवाई गयीं बाकी परीक्षाएं भी शक के घेरे में हैं।

एनएसयूआई अध्यक्ष नीरज कुंदन ने अपने बयान में कहा कि, सीबीआई द्वारा दर्ज हुई शिकायत में जिनके नाम हैं उनके खिलाफ जल्द से जल्द कार्यवाही होनी चाहिए। जे.ई.ई जैसी महत्वपूर्ण परीक्षा में ऐसी घटना होना आज हर उस छात्र के लिए चिंता का विषय बन गया है, जो प्रवेश परीक्षाओं की तैयारी कर रहे हैं।

नेशनल टेस्टिंग एजेन्सी जो कि देश में कई महत्वपूर्ण परीक्षा करवाने की जि़म्मेदार है आज शक के घेरे में है। केंद्र सरकार की नाक के नीचे ऐसी घटना का होना मोदी कैबिनेट की एक और नाकामी का सबूत है।

एनएसयूआई ने दावा किया है कि, इस पेपर लीक की सीधी सीधी जि़म्मेदार केंद्र सरकार ही है क्योंकि नेशनल टेस्टिंग एजेन्सी हाल ही में नवंबर 2017 में इसी केंद्र सरकार द्वारा स्थापित की गयी थी।

इस मसले पर प्रदर्शनकारियों ने जमकर नारेबाजी की वहीं प्रदर्शन के दौरान एनएसयूआई कार्यकर्ताओं ने बैरिकेडिंग तोड़ने का प्रयास भी किया, जिसके जवाब में पुलिस ने छात्रों पर काबू पाने की कोशिश बजी की।

--आईएएनएस

एमएसके/एएनएम

Share this story