महिलाओं पर जबरदस्ती थोपी गई कुरीतियों के लिए कोई जगह नहीं है: एकावली खन्ना

महिलाओं पर जबरदस्ती थोपी गई कुरीतियों के लिए कोई जगह नहीं है: एकावली खन्ना
महिलाओं पर जबरदस्ती थोपी गई कुरीतियों के लिए कोई जगह नहीं है: एकावली खन्ना मुंबई, 2 अगस्त (आईएएनएस)। अभिनेत्री एकावली खन्ना ने मासूम सवाल के पोस्टर को लोगों में लगाए गए कलंक के कारण गलत तरीके से देखे जाने पर खुलकर बात की।

वह कहती हैं, सबसे पहले, मुझे पोस्टर को मिली किसी भी प्रतिक्रिया के बारे में पता नहीं है। लेकिन अगर ऐसा है तो मैं बस इतना कह सकती हूं कि निर्माताओं का किसी की भावनाओं को आहत करने का कोई इरादा नहीं था।

इसका एकमात्र उद्देश्य वर्जनाओं को तोड़ना और कथा को बदलना था। इस पीढ़ी में, अंधविश्वासों और कुरीतियों के लिए कोई जगह नहीं है जो महिलाओं पर अनावश्यक रूप से थोपी जाती हैं।

पोस्टर लॉन्च के साथ ही सोशल मीडिया पर तरह-तरह की बातें शुरू हो गई हैं और कई लोग शिकायत कर रहे हैं कि इससे धार्मिक भावनाएं आहत हो रही हैं।

मासिक धर्म और इससे जुड़ी शर्म के बारे में कहा जाने वाला मासूम सवाल में अभिनेता नितांशी गोयल, एकावली खन्ना, शिशिर शर्मा, मधु सचदेवा, रोहित तिवारी, वृंदा त्रिवेदी, रामजी बाली, शशि वर्मा और अन्य शामिल हैं।

कमलेश के मिश्रा द्वारा लिखित और नक्षत्र 27 प्रोडक्शंस के रंजना उपाध्याय द्वारा निर्मित, संतोष उपाध्याय द्वारा निर्देशित यह फिल्म 5 अगस्त को सिनेमाघरों में रिलीज होगी।

--आईएएनएस

पीजेएस/एएनएम

Share this story