#iamoxygenman विवेक ओबेरॉय की मुहिम ने दी के को जिंदगी तो कइयों को जीने की आस 

Vivek oberoi
 

विवेक आनंद ओबेरॉय ने हाल ही में डॉ. विवेक बिंद्रा के साथ एक कार्यक्रम की सह-मेजबानी की और दान जुटाने और कोविड -19 की इस दूसरी लहर की लोगों में जागरूकता पैदा करने के लिए, जिसने पूरे भारत में 2.5 लाख से अधिक लोगों की जान ले ली है। इस पहल का नाम आई एम ऑक्सीजन मैन है। कार्यक्रम के दौरान, डॉ. बिंद्रा ने विवेक के बड़े मन और उदारता के लिए उनकी प्रशंसा की। 

बातचीत के दौरान, डॉ बिंद्रा ने विवेक के बारे में कुछ सबसे दिलचस्प तथ्यों का खुलासा किया, जिनके बारे में आप में से बहुत से लोग नहीं जानते होंगे। 

डॉ. बिंद्रा ने विवेक से कहा, "कोई भी शब्द उस महान कार्य का वर्णन नहीं कर सकता जो आप स्वयं कर रहे हैं। आपने सैंकड़ो बच्चों का निशुल्क हार्ट ऑपरेशन कराए है । आपने 2.5 लाख से अधिक वंचित बच्चों को कैंसर से बचाया। विशेष रूप से स्टार्टअप की दुनिया में आपका व्यवसाय कौशल भी प्रशंसनीय है। आप दुनिया भर में शीर्ष 40 परोपकारी हस्तियों में से एक हैं जिन्हें फोर्ब्स पत्रिका ने सम्मानित किया है। आपने 2200 से अधिक छोटी लड़कियों को बाल वेश्यावृत्ति से बचाया है, जिनमें से 50 से अधिक आज विदेश में छात्रवृत्ति पर पढ़ रही हैं। साथ ही, बहुतों को यह नहीं पता होगा कि आपकी पहली तनख्वाह, जो पैसा आपने अपनी पहली फिल्म कंपनी से कमाया थे, वे आपने एक युवा लड़की की हार्ट सर्जरी के लिए पूरी राशि दान कर दी थी।” 

विवेक आनंद ओबेरॉय न केवल अभी महामारी के दौरान, बल्कि पिछले दो दशकों से लगातार पूरे देश में लोगों के लिए बहुत अच्छा काम कर रहे हैं। महामारी के इस कठिन समय के दौरान भी, विवेक आई एम ऑक्सीजन मैन पहल के साथ मदद के लिए हाथ बढ़ाकर अपना काम करने की कोशिश कर रहे है, जहां उन्होंने डॉ विवेक बिंद्रा के साथ भागीदारी की है - एक 200-बेड वाले मुफ्त कोविड अस्पताल का निर्माण किया जो कि दिल्ली में है जहाँ मुफ्त में इलाज किया जाता है ,जो पहले ही 1000 से अधिक लोगों की जान बचा चुका है।

Share this story