ओप्पो पहली तिमाही में 22 फीसदी की वृद्धि के साथ मेड इन इंडिया स्मार्टफोन शिपमेंट में आगे

ओप्पो पहली तिमाही में 22 फीसदी की वृद्धि के साथ मेड इन इंडिया स्मार्टफोन शिपमेंट में आगे
ओप्पो पहली तिमाही में 22 फीसदी की वृद्धि के साथ मेड इन इंडिया स्मार्टफोन शिपमेंट में आगे नई दिल्ली, 20 जून (आईएएनएस)। वैश्विक स्मार्ट डिवाइस ब्रांड ओप्पो 2022 की पहली तिमाही में मेड इन इंडिया स्मार्टफोन शिपमेंट में अग्रणी के रूप में उभरा है। इसने 22 प्रतिशत (साल-दर-साल) की वृद्धि दर्ज की है। सोमवार को एक नई रिपोर्ट में इसकी जानकारी दी गई है।

काउंटरपॉइंट रिसर्च के अनुसार, भारत में स्मार्टफोन की बढ़ती मांग के साथ-साथ बढ़ते निर्यात के कारण, मेड इन इंडिया स्मार्टफोन शिपमेंट में इस साल की पहली तिमाही में 7 प्रतिशत की वृद्धि हुई और 48 मिलियन यूनिट तक पहुंच गई है।

वैश्विक पुर्जो की कमी के बावजूद, स्थानीय स्मार्टफोन निर्माण पारिस्थितिकी तंत्र लचीला बना रहा और ओप्पो ने शीर्ष पर उभरते हुए एक असाधारण प्रदर्शन प्रदर्शित किया, क्योंकि इसने स्मार्टफोन शिपमेंट का अधिकतम हिस्सा हासिल किया।

वरिष्ठ शोध विश्लेषक प्रचिर सिंह ने कहा, ओप्पो ने लगातार न केवल भारत में अपनी विनिर्माण क्षमताओं को बढ़ाने पर ध्यान केंद्रित किया है, बल्कि कई प्रक्रियाओं को स्वचालित किया है, जिससे उत्पादन क्षमता बढ़ी है। इससे ओप्पो को अपनी आपूर्ति श्रृंखला को बेहतर ढंग से प्रबंधित करने में मदद मिली है और साथ ही साथ कई अन्य पुर्जो के खिलाड़ियों को आकर्षित करने में मदद मिली है।

कुल मिलाकर, 2021 में, मेड इन इंडिया स्मार्टफोन की शिपमेंट 190 मिलियन यूनिट को पार कर गई है।

निरंतर वृद्धि का कारण स्थानीय विनिर्माण को बढ़ाने के लिए भारत सरकार की विभिन्न पहलों का समर्थन है।

ओप्पो इंडिया के चीफ मार्केटिंग ऑफिसर दमयंत खानोरिया ने कहा, मेक इन इंडिया के प्रति हमारी प्रतिबद्धता अटूट रही है और भारत में ओप्पो के विकास का एक प्रमुख स्तंभ बनी रहेगी।

खानोरिया ने कहा, यह मान्यता देश में हमारे प्रयासों का प्रमाण है। हम उद्योग के अग्रणी प्रोडक्टस और प्रौद्योगिकियों का निर्माण जारी रखेंगे जो हमारे आर एंड डी और विनिर्माण पारिस्थितिकी तंत्र के माध्यम से भारतीय उपभोक्ताओं पर केद्रित हैं।

रिपोर्ट के अनुसार, भारत के हैंडसेट निर्माण के 2022 में सालाना आधार पर 4 प्रतिशत बढ़ने की उम्मीद है।

ओप्पो भारत में अपनी निर्माण इकाई के साथ आत्मनिर्भर भारत पहल में योगदान देने में एक महत्वपूर्ण खिलाड़ी रहा है।

कंपनी ने कहा कि वह बाजार की स्थिति और समग्र प्रदर्शन को बनाए रखने के लिए अपने आरएंडडी और विनिर्माण के साथ अपने प्रदर्शन में सुधार करना जारी रखेगी।

--आईएएनएस

एसकेके/एसजीके

Share this story