कर्नाटक के 13 जिलों में 7 दिनों में कोविड से कोई मौत नहीं

कर्नाटक के 13 जिलों में 7 दिनों में कोविड से कोई मौत नहीं
कर्नाटक के 13 जिलों में 7 दिनों में कोविड से कोई मौत नहीं बेंगलुरु, 7 अक्टूबर (आईएएनएस)। कर्नाटक स्वास्थ्य विभाग राज्य में कोविड-19 की स्थिति को लेकर उत्साहित है क्योंकि पिछले सात दिनों में (5 अक्टूबर तक) 13 जिलों में कोई भी मौत दर्ज नहीं की गई हैं।

स्कूलों, थिएटरों, पबों पर से प्रतिबंध हटाने और रात के कर्फ्यू के घंटों में कमी के बावजूद राज्य में सकारात्मकता दर 0.53 प्रतिशत रही। वहीं सरकार अब दशहरा उत्सव के बाद प्राथमिक विद्यालयों को फिर से खोलने पर विचार कर रही है।

स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों के अनुसार पात्र समूह के 81 प्रतिशत लोगों को कोविड-19 टीकाकरण की एक खुराक दी गई है और 36 प्रतिशत लोगों को टीकाकरण की दूसरी खुराक दी गई है।

विभाग से मिली जानकारी के अनुसार, राज्य के 13 जिलों में किसी भी संबंधित कोविड की मौत की सूचना नहीं है। बल्लारी, बीदर, चामराजनगर, चिक्कबल्लापुर, चिक्कमगलूर, कलबुर्गी, कोलार, कोप्पल, मांड्या, रायचूर, उडुपी, विजयपुरा और यादगीर जिलों में 5 अक्टूबर तक सात दिनों तक कोई भी कोविड मौत नहीं हुई।

अन्य जिलों और राजधानी बेंगलुरु में भी मृत्यु दर में भारी कमी आई है। पूरे राज्य में भी कोविड मामलों की संख्या में कमी आई है। सितंबर के पहले सप्ताह में 5,612 मामले दर्ज किए गए थे, जबकि अक्टूबर के पहले सप्ताह में 3,676 मामले दर्ज किए गए। जिलों में सक्रिय मामलों में भी कमी आई है।

स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी आंकड़ों में उल्लेख किया गया है कि बीदर ने 2, गडग, रायचूर ने 4 मामले दर्ज किए, जबकि बागलकोट, रायचूर और यादगीर जिलों में 6 अक्टूबर को 5-5 मामले दर्ज किए गए थे। बेंगलुरु शहर में 7,572 सक्रिय मामले हैं और दक्षिण कन्नड़ राज्य में 744 मामले सक्रिय मामले हैं। केरल और महाराष्ट्र की सीमा से लगे जिले भी कोविड महामारी से निपटने के मामले में अच्छी प्रगति दिखा रहे हैं।

टीकाकरण के मामले में भी राज्य अच्छा प्रदर्शन कर रहा है। 81 प्रतिशत लोगों को पहली खुराक और 36 प्रतिशत लोगों को टीकाकरण की दूसरी खुराक मिल गई है। दो जिलों ने पहली खुराक के 100 प्रतिशत टीकाकरण का प्रशासन हासिल कर लिया है जबकि 7 जिलों ने 90 प्रतिशत लाभार्थियों को पहली खुराक देने में कामयाबी हासिल की है।

केरल के सीमावर्ती जिले कोडागु में 99 फीसदी, हसन में 94 फीसदी, दक्षिण कन्नड़ में 93 फीसदी, रामनगर और उत्तर कन्नड़ में 92 फीसदी, चिक्कमगलूर और मांड्या में 91 फीसदी लोगों को वैक्सीन की पहली खुराक मिली है।

हालांकि, बीबीएमपी क्षेत्र को छोड़कर बेंगलुरु शहरी जिले के लिए निर्धारित लक्ष्य 9.81 लाख था, जबकि 11.92 लाख लोगों ने टीकाकरण प्राप्त किया है। बीबीएमपी सीमा में 87.21 लाख के लक्ष्य के मुकाबले वैक्सीन अभियान ने 77.64 लाख लोगों को कवर किया है।

राज्य में कुल मिलाकर 18 वर्ष से अधिक आयु के 4.89 करोड़ लोग कोविड टीकाकरण के पात्र हैं। अब तक 3.96 करोड़ लोगों को कोविड टीकाकरण की पहली खुराक मिल चुकी है।

--आईएएनएस

एमएसबी/आरजेएस

Share this story