तमिलनाडु में आगामी परमाणु रिएक्टर के लिए प्रमुख पुर्जा बनाया गया : रोसाटॉम

तमिलनाडु में आगामी परमाणु रिएक्टर के लिए प्रमुख पुर्जा बनाया गया : रोसाटॉम
तमिलनाडु में आगामी परमाणु रिएक्टर के लिए प्रमुख पुर्जा बनाया गया : रोसाटॉम चेन्नई, 21 जून (आईएएनएस)। रूस की एकीकृत परमाणु ऊर्जा प्रमुख रोसाटॉम ने मंगलवार को कहा कि उसके ग्रुप आउटफिट जीओ-पोडॉल्स्क ने तमिलनाडु के कुडनकुलम में आने वाली बिजली इकाई नंबर 5 के लिए हीट-एक्सचेंजिंग उपकरण का निर्माण किया है।

रोसाटॉम ने कहा कि राहत टैंक को भारत भेजने के लिए तैयार कर लिया गया है।

यह परमाणु ऊर्जा संयंत्र के लिए उपकरणों के महत्वपूर्ण तत्वों में से एक है।

उपकरण ऑस्टेनिटिक क्रोमियम-निकल स्टील से बना है और इसका वजन 15 टन, लंबाई लगभग 8 मीटर, व्यास 2,5 मीटर और ऊंचाई 4 मीटर है।

आइटम का जीवन काल 40 वर्ष है।

2003-2004 में जीओ-पोडॉल्स्क ने कुडनकुलम में काम कर रहे बिजली इकाइयों 1 और 2 के लिए रिएक्टर और टरबाइन हॉल के लिए उपकरण और कई अन्य वस्तुओं का निर्माण और शिप किया।

भारत के परमाणु ऊर्जा संयंत्र संचालक न्यूक्लियर पावर कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड (एनपीसीआईएल) के कुडनकुलम में दो 1,000 मेगावाट के संयंत्र (यूनिटस 1 और 2) हैं, जबकि चार और (यूनिटस 3, 4, 5 और 6) निर्माणाधीन हैं।

सभी छह इकाइयां रूसी तकनीक और रोसाटॉम द्वारा आपूर्ति किए गए उपकरणों के साथ बनाई गई हैं।

--आईएएनएस

एसकेके/एएनएम

Share this story