दिल्ली के केंद्र संचालित अस्पतालों में अब रविवार को भी खुले रहेंगे ओपीडी

दिल्ली के केंद्र संचालित अस्पतालों में अब रविवार को भी खुले रहेंगे ओपीडी
दिल्ली के केंद्र संचालित अस्पतालों में अब रविवार को भी खुले रहेंगे ओपीडी नई दिल्ली, 9 अक्टूबर (आईएएनएस)। राष्ट्रीय राजधानी में केंद्र सरकार द्वारा संचालित अस्पतालों के बाह्य रोगी विभाग (ओपीडी) सेवाएं अब 10 अक्टूबर से रविवार को भी खुली रहेंगी।

इस कदम का मकसद शहर के भीड़भाड़ वाले अस्पतालों पर बोझ कम करना है।

हालांकि डॉक्टर्स एसोसिएशन ने इस फैसले के खिलाफ अपना विरोध दर्ज कराया है।

नई गाइडलाइंस के साथ शहर के तीन अस्पतालों में मेडिसिन, जनरल सर्जरी, पीडियाट्रिक्स, गायनेकोलॉजी, ऑब्सटेट्रिक्स, ऑथोर्पेडिक्स, आई, ईएनटी और यूरोलॉजी और फामेर्सी जैसी स्पेशलिटीज खुलेंगी।

ओपीडी रजिस्ट्रेशन का समय सुबह 8 बजे से 11.30 बजे तक होगा, जबकि ओपीडी का समय सुबह 9 बजे से दोपहर 1 बजे तक होगा।

लेडी हाडिर्ंग मेडिकल कॉलेज के एक सकरुलर में लिखा गया है, स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय के निर्देश के अनुसार, रविवार को भी अस्पतालों में आउट पेशेंट डिपार्टमेंट (ओपीडी) खोलने का निर्णय लिया गया है।

नए दिशा-निदेशरें के अनुसार रविवार को भी दवा वितरण के लिए फामेर्सी काउंटर खुला रहेगा।

सकरुलर में कहा गया है, जांच की आवश्यकता वाले मरीजों के लिए लैब सेवाएं उपलब्ध होंगी। राम मनोहर लोहिया अस्पताल और सफदरजंग अस्पताल को एक समान परिपत्र जारी किया गया है। शहर के आरएमएल अस्पताल में शुगर और फामेर्सी सहित कुल 9 विभाग अपनी ओपीडी सेवाएं चलाएंगे।

अस्पताल ने कहा, ओपीडी रोगियों के लिए पंजीकरण प्रक्रिया सुबह 8.30 बजे से शुरू होगी और तीन घंटे तक चलेगी। सफदरजंग अस्पताल रविवार को भी अपनी ओपीडी सेवाएं चलाएगा। ओपीडी पंजीकरण का समय सुबह 8 बजे से 11.30 बजे तक होगा।

अस्पताल के ओपीडी भवन में भी फामेर्सी की सेवाएं उपलब्ध रहेंगी।

इसी तरह एम्स की मुफ्त दवा वितरण फामेर्सी की दुकान अब सभी छुट्टियों और रविवार को सुबह 9 बजे से शाम 4 बजे तक खुली रहेगी।

हालांकि, फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया मेडिकल एसोसिएशन (एफएआईएमए) ने स्वास्थ्य मंत्री को पत्र लिखकर इस फैसले को वापस लेने के लिए कहा है। इसमें तर्क दिया गया है कि यह प्रति सप्ताह अधिकतम 48 घंटे काम करने के सुप्रीम कोर्ट के दिशानिदेशरें का स्पष्ट उल्लंघन है।

एफएआईएमए के अध्यक्ष डॉ. राकेश बागड़ी ने कहा, पहले से ही बोझ से दबे डॉक्टरों को अब रविवार को भी बिना किसी अतिरिक्त भत्ते या छुट्टी के आना होगा।

--आईएएनएस

एकेके/एएनएम

Share this story