बिहार के नालंदा में मिला मंकीपॉक्स का संदिग्ध मामला

बिहार के नालंदा में मिला मंकीपॉक्स का संदिग्ध मामला
बिहार के नालंदा में मिला मंकीपॉक्स का संदिग्ध मामला पटना, 27 जुलाई (आईएएनएस)। बिहार के नालंदा जिले के एक अस्पताल में बुधवार को मंकीपॉक्स के लक्षण वाले एक व्यक्ति को भर्ती कराया गया।

नालंदा जिले के राजगीर निवासी मरीज को स्वास्थ्य विभाग की एक टीम के साथ होम आइसोलेशन पर रखा गया है, जो उसकी निगरानी कर रहे हैं।

नालंदा स्वास्थ्य विभाग के एक अधिकारी ने कहा, मरीज को बुखार और शरीर के कई हिस्सों में खुजली हो रही है और उसके बाद चेचक भी हो रही है। हमने उसके नमूने जांच के लिए पुणे के वायरोलॉजी संस्थान में भेजे हैं। रिपोर्ट चार से पांच दिनों के भीतर आने की उम्मीद है।

इससे पहले मंगलवार को बिहार के स्वास्थ्य विभाग ने पटना शहर के गुरहट्टा इलाके में भी मंकीपॉक्स के एक संदिग्ध मामले का पता लगाया था।

मरीज एक महिला है और स्वास्थ्य विभाग की एक टीम ने जांच के लिए नमूना लिया है।

एक अधिकारी के मुताबिक, महिला को मंकीपॉक्स के सभी लक्षण हैं और वह फिलहाल अपने घर में आइसोलेट है।

बिहार में वायरस की जांच की सुविधा के अभाव में नमूने पुणे भेजे जा रहे हैं।

इस बीच, बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे ने वरिष्ठ अधिकारियों की एक उच्च स्तरीय बैठक बुलाकर मामले को देखने के लिए आवश्यक निर्देश दिए।

अब तक मंकीपॉक्स का एक मामला दिल्ली में और तीन केरल में सामने आए हैं।

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने 65 देशों में 16,000 से अधिक मामले सामने आने के बाद इसे वैश्विक स्वास्थ्य आपातकाल घोषित किया है।

मंकीपॉक्स का वायरस आम तौर पर जानवरों से इंसानों में और फिर इंसानों से इंसानों में फैलता है। इसका वायरस आम तौर पर मुंह, नाक, आंख और त्वचा के जरिए मानव शरीर में प्रवेश करता है।

--आईएएनएस

एसकेके/एएनएम

Share this story