भारतीय यूजर्स के लिए स्ट्रीट व्यू अनुभव वापस लाया गूगल मैप्स

भारतीय यूजर्स के लिए स्ट्रीट व्यू अनुभव वापस लाया गूगल मैप्स
भारतीय यूजर्स के लिए स्ट्रीट व्यू अनुभव वापस लाया गूगल मैप्स नई दिल्ली, 27 जुलाई (आईएएनएस)। उपयोगकर्ता अनुभव को बढ़ाने के उद्देश्य से गूगल मैप्स बुधवार को देश में स्ट्रीट व्यू अनुभव वापस लाया है। यह लोगों को नेविगेट करने और स्थानों को अधिक नेत्रहीन और सटीक रूप से तलाशने में मदद करेगा।

भारत सरकार ने कथित रूप से आवश्यक सुरक्षा मंजूरी हासिल करने में विफल रहने के कारण एक दशक से भी अधिक समय पहले स्ट्रीट व्यू सेवा को निलंबित कर दिया था।

गूगल ने कहा कि स्ट्रीट व्यू एपीआई स्थानीय डेवलपर्स के लिए भी उपलब्ध होंगे, जिससे वे अपनी सेवाओं में बेहतर मैपिंग अनुभव प्रदान कर सकेंगे। इसमें यह भी उल्लेख किया गया है कि कंपनी ने इस नए फीचर को उन्नत मैपिंग सॉल्यूशंस कंपनी एडवान्स्ड मैपिंग सॉल्यूशन्स कंपनी और टेक महिंद्रा के साथ साझेदारी में लॉन्च किया है।

गूगल मैप्स एक्सपीरियंस की वीपी मिरियम कार्तिका डेनियल ने एक बयान में कहा, हमारा मानना है कि भारत में स्ट्रीट व्यू का लॉन्च वर्चुअल रूप से आने वाले स्थानों से लेकर स्थानीय व्यवसायों और प्रतिष्ठानों की बेहतर समझ हासिल करने के लिए अधिक उपयोगी उपयोगकर्ता अनुभव प्रदान करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा।

डेनियल ने कहा, यह लॉन्च हमारे स्थानीय साझेदारों टेक महिंद्रा और जेनेसिस इंटरनेशनल के सहयोग से ही संभव हुआ है।

कंपनी ने कहा कि स्ट्रीट व्यू गूगल मैप्स पर उपलब्ध होगा, जिसमें बेंगलुरु, चेन्नई, दिल्ली, मुंबई, हैदराबाद, पुणे, नासिक, वडोदरा, अहमदनगर और अमृतसर सहित भारत के दस शहरों में 150,000 किलोमीटर की दूरी तय करने वाले स्थानीय भागीदारों से लाइसेंस प्राप्त हैं।

गूगल, जेनेसिस इंटरनेशन और टेक महिंद्रा ने 2022 के अंत तक इस सुविधा को 50 से अधिक शहरों में विस्तारित करने की योजना बनाई है।

सुरक्षित ड्राइविंग को बढ़ावा देने के लिए स्थानीय यातायात अधिकारियों के प्रयासों का समर्थन करते हुए, गूगल मैप्स अब बेंगलुरू से शुरू होकर यातायात अधिकारियों द्वारा साझा किए गए गति सीमा डेटा दिखाएगा।

टेक दिग्गज ने ट्रैफिक लाइट के समय को बेहतर ढंग से अनुकूलित करने वाले मॉडल देने की दिशा में अपने प्रयासों के तहत बेंगलुरु ट्रैफिक पुलिस के साथ अपनी साझेदारी की भी घोषणा की। यह स्थानीय यातायात प्राधिकरण को प्रमुख चौराहों पर सड़क की भीड़ का प्रबंधन करने में मदद कर रहा है और अंतत: पूरे शहर में इसका विस्तार होगा।

गूगल ने कहा कि वह स्थानीय यातायात अधिकारियों के साथ साझेदारी में कोलकाता और हैदराबाद में इसका विस्तार करेगा।

--आईएएनएस

एसकेके/एएनएम

Share this story