वैज्ञानिकों ने विटामिन-डी, कोविड रोगियों में सूजन के बीच की कड़ी का पता लगाया

वैज्ञानिकों ने विटामिन-डी, कोविड रोगियों में सूजन के बीच की कड़ी का पता लगाया
वैज्ञानिकों ने विटामिन-डी, कोविड रोगियों में सूजन के बीच की कड़ी का पता लगाया न्यूयॉर्क, 21 नवंबर (आईएएनएस)। वैज्ञानिकों ने पाया है कि विटामिन-डी प्रतिरक्षा कोशिकाओं के कारण होने वाली सूजन को कम करने का काम करता है, जो गंभीर कोविड-19 के दौरान प्रतिक्रियाओं के लिए प्रासंगिक हो सकता है।

अध्ययन में एक तंत्र प्रदर्शित किया गया, जिसके द्वारा विटामिन-डी, टी कोशिकाओं के कारण होने वाली सूजन को कम करता है। ये प्रतिरक्षा प्रणाली की महत्वपूर्ण कोशिकाएं हैं और कोविड-19 के कारण होने वाले संक्रमण के प्रति प्रतिरक्षा प्रतिक्रिया के हिस्से के रूप में निहित हैं।

पर्डयू विश्वविद्यालय के नेतृत्व में टीम ने कोविड संक्रमित आठ लोगों के फेफड़ों की व्यक्तिगत कोशिकाओं का अध्ययन और विश्लेषण किया। उन्होंने पाया कि कोविड वाले लोगों के फेफड़ों की कोशिकाओं में प्रतिरक्षा प्रतिक्रिया का हिस्सा ओवरड्राइव में जा रहा था, जिससे फेफड़ों की सूजन बढ़ गई।

टीम ने तब जांच की कि वायरस पिछले अध्ययन में फेफड़ों की कोशिकाओं को कैसे प्रभावित करते हैं। साथ ही यह पता लगाया कि वायरस एक जैव रासायनिक मार्ग को ट्रिगर कर सकते हैं, जिसे प्रतिरक्षा पूरक प्रणाली के रूप में जाना जाता है।

पर्डयू विश्वविद्यालय में कंप्यूटर विज्ञान और जैव रसायन विभाग के सहायक प्रोफेसर माजिद काजेमियन ने कहा, सामान्य संक्रमणों में टी कोशिकाओं का एक सबसेट, टी कोशिकाओं का एक सबसेट, प्रो-भड़काऊ चरण से गुजरता है।

प्रो-इंफ्लेमेटरी चरण संक्रमण को साफ करता है, और फिर सिस्टम बंद हो जाता है और एंटी-इंफ्लेमेटरी चरण में चला जाता है। विटामिन-डी टी कोशिकाओं के प्रो-इंफ्लेमेटरी से एंटी-इंफ्लेमेटरी चरण में इस संक्रमण को तेज करने में मदद करता है।

--आईएएनएस

एसजीके

Share this story