सैमसंग मार्च में भारत के स्मार्टफोन बाजार में सबसे ऊपर, 40 फीसदी प्रीमियम हिस्सेदारी का रखा लक्ष्य

सैमसंग मार्च में भारत के स्मार्टफोन बाजार में सबसे ऊपर, 40 फीसदी प्रीमियम हिस्सेदारी का रखा लक्ष्य
सैमसंग मार्च में भारत के स्मार्टफोन बाजार में सबसे ऊपर, 40 फीसदी प्रीमियम हिस्सेदारी का रखा लक्ष्य नई दिल्ली, 2 मई (आईएएनएस)। अपनी सफल गैलेक्सी एस22 सीरीज और गैलेक्सी ए सीरीज की मजबूत पकड़ पर सवार होकर, सैमसंग इंडिया ने सोमवार को कहा कि उसने मार्च में भारतीय स्मार्टफोन बाजार में 22 प्रतिशत बाजार हिस्सेदारी (मात्रा के हिसाब से) और 27 प्रतिशत हिस्सेदारी (राजस्व के हिसाब से) हासिल की।

सैमसंग इंडिया के एमएक्स बिजनेस के सीनियर वाइस प्रेसिडेंट राजू पुलन ने कहा कि मार्च के महीने में वृद्धि अप्रैल-जून तिमाही में सैमसंग के लिए मजबूत दोहरे अंकों की वृद्धि की ओर इशारा करती है।

पुलन ने आईएएनएस को बताया, हमारे हालिया लॉन्च (फ्लैगशिप गैलेक्सी एस22 सीरीज और गैलेक्सी ए सीरीज) ने उपभोक्ताओं से मजबूत मांग देखी है, जिससे मार्च हमारे लिए एक रिकॉर्ड महीना बन गया है। सैमसंग भारत में प्रीमियम सेगमेंट में इस साल की पहली छमाही तक अपने बाजार नेतृत्व को 40 प्रतिशत तक मजबूत करना चाहता है।

भारत के बाजार में वृद्धि से पता चलता है कि सैमसंग ने पुर्जो की कमी को दूर कर लिया है जिससे अधिकांश प्रतिद्वंद्वी स्मार्टफोन ब्रांड प्रभावित हुए हैं।

गैलेक्सी एस22 सीरीज लॉन्च होने के एक महीने के भीतर ही भारत में कंपनी का सबसे ज्यादा बिकने वाला फ्लैगशिप स्मार्टफोन बन गया।

पुलन ने कहा, पहली तिमाही में सैमसंग के स्मार्टफोन कारोबार ने पिछले साल की समान अवधि की तुलना में 9 फीसदी की वृद्धि दर्ज की है।

उनके अनुसार, गैलेक्सी एम, एफ और ए सीरीज में 5जी क्षमता के साथ समय पर पोर्टफोलियो विस्तार और गैलेक्सी एस22 और फोल्डेबल फ्लैगशिप सीरीज की मजबूत पकड़ ने सैमसंग को देश में नेतृत्व की स्थिति में वापस लाने में मदद की।

सैमसंग ने मार्च में गैलेक्सी ए सीरीज के पांच डिवाइस भी लॉन्च किए, जिसमें गैलेक्सी ए13, गैलेक्सी ए23, गैलेक्सी ए33 5जी, गैलेक्सी ए53 5जी और गैलेक्सी ए73 5जी शामिल हैं।

पुलन ने आईएएनएस को बताया, ये पांच स्मार्टफोन मध्य और उच्च स्तर पर सैमसंग के पोर्टफोलियो को मजबूत करेंगे, जहां कंपनी एच1, 202 तक अपनी बाजार हिस्सेदारी को 40 फीसदी तक बढ़ाने का लक्ष्य बना रही है।

--आईएएनएस

एसकेके/एएनएम

Share this story