Top
Aap Ki Khabar

Cow Milk से Malnutrition पर होगा Control ,8000 बच्चे पियेंगे दूध

69 परिवार चिंहित, 07 कुपोषित बच्चों के परिजनों को दी गाय

Cow Milk से Malnutrition पर होगा Control ,8000 बच्चे पियेंगे दूध
X




-गाय का दूध पीकर पोषित होंगे कुपोषित बच्चे

-गाय के चारे के लिए मिलेंगे 30 रुपए प्रतिदिन, 900 रूपये प्रति माह

State News UP बलरामपुर 10 अक्टूबर। नीति आयोग की लिस्ट में पिछड़े जिले में शुमार बलरामपुर में कुपोषण एक बड़ी समस्या है। जिले में करीब 8 हजार बच्चे कुपोषण का शिकार हैं। बच्चों में कुपोषण को दूर करने के लिए सरकार ने एक-एक गाय देने की योजना बनाई है, जिसके तहत सहमति के आधार पर चिन्हित परिवारों को पशुपालन विभाग के सहयोग बाल विकास विभाग द्वारा गायें प्रदान की जा रही हैं। इस योजना के तहत कुपोषित बच्चे को गाय का दूध पिलाकर स्वस्थ किया जा सके।

जिला कार्यक्रम अधिकारी के.एम. पाण्डेय ने शनिवार को बताया कि राष्ट्रीय पोषण माह के तहत जिले के नौ ब्लाकों में 6 साल तक के कुपोषित बच्चों के 69 परिवारों को सहमति के आधार पर चिन्हित कर यह गाय गौशाला से दी जाएंगी। इन परिवारों में से बलरामपुर देहात व तुलसीपुर में दो-दो व गैसड़ी में तीन कुपोषित बच्चों के परिवारों को अब तक गायें प्रदान की गई है। जल्द ही सभी परिवारों को पशुपालन विभाग के सहयोग से दुधारू गायें दिलाई जाएंगी। उन्होने बताया कि इस योजना का उद्देश्य गाय का दूध पिलाकर और पौष्टिक आहार खिलाकर इन बच्चों जल्दी से जल्दी सुपोषित करना है। बच्चों के परिजनों ने उनकी मन पसंद गाय मिलने पर खुशी भी व्यक्त की है। सरकार की मंशा के अनुसार कुपोषित बच्चों को इससे लाभान्वित किया जाएगा। सहभागिता योजना के तहत गायों के चारे आदि के लिए 30 रुपए प्रतिदिन के हिसाब से 900 रुपए प्रतिमाह दिए जाएंगे। जनपद में योजना को सुचारू रखने की जिम्मेदारी जिला कार्यक्रम अधिकारी एवं मुख्य पशुचिकित्साधिकारी को दी गई है। डीपीओ ने बताया कि यदि कोई परिवार स्वेच्छा से गोवंश लेना चाहता है तो वो अपने ब्लाक के पशु चिकित्सा अधिकारी, बीडीओ व सीडीपीओ से सम्पर्क कर सकता है।


बाल विकास परियोजना अधिकारी गरिमा श्रीवास्तव ने बताया कि गैसड़ी ब्लाक के चिटहवा के रहने वाले बच्चे की मां ताहिरा खातून, रतनपुर गांव में रहने वाले बच्चे की मां सुनीता और विलोहा बनकसिया गांव के रहने वाले बच्चे की मां सरिता भारती को एक-एक दुधारू गायें प्रदान की गई हैं। कुपोषित एवं अतिकुपोषित बच्चों के माता-पिता जो गाय पालने के इच्छुक हैं और उनके पास गाय रखने के लिए पर्याप्त स्थान है, उन्हें शासन की ओर से गाय दी जा रही हैं। उन्होंने बताया बच्चों के परिजनों को गौशालाओं से उनकी पसंद की गाय दी जा रही हैं। वितरण कार्यक्रम के दौरान सीडीपीओ ने बच्चों का माताओं को बताया कि साफ-सफाई रखें और बच्चों को ताजा खाना खिलाएं। उन्होने माताओं से बातचीत कर उन्हे बच्चों में कुपोषण दूर करने के टिप्स भी दिये। इस दौरान डा. राजेश, प्रभारी सीवीओ शोभाराम, आंगनवाड़ी कार्यकर्ता व प्रधान सहित तमाम लोग मौजूद रहे।

Next Story
Share it