Top
Aap Ki Khabar

Mental health awareness: खाने में जरूर लें ये पोषक तत्व, कभी नहीं होगा दिमाग खराब

Diet and its effect on mental health: आपके खाने और आहार के जो भी गुण और तत्व होते हैं, वे आपके शरीर को मिलते हैं।

Mental health awareness: खाने में जरूर लें ये पोषक तत्व, कभी नहीं होगा दिमाग खराब
X

Mental health awareness: • शरीर में पोषक तत्वों की कमी से दिमाग संबंधित रोग होने होने की आशंका बढ़ सकती है।

• शोध में यह पाया गया है कि सेहतमंद खाना आपको डिप्रेशन जैसी बीमारी से कोसों दूर रख सकता है।

• यहां जानें उन पोषक तत्वों के बारे में, जो आपके मेंटल हेल्थ के लिए बेहद फायदेमंद साबित हो सकते हैं...

Vitamins and minerals for Mental health: मेन्टल हेल्थ के लिए कई फायदेमन्द चीजें हैं, जिनके प्रयोग से न सिर्फ बच्चों के दिमाग़ को स्ट्रांग किया जा सकता है, बल्कि साथ ही आज के युवा वर्ग एजुकेशन और अधिक काम के दबाव के कारण काफ़ी थका महसूस करता है। इसके लिए योग ध्यान करके खुद के स्ट्रेस को कम किया जा सकता है, लेकिन साथ में कुछ तत्व जो दिमाग के न्यूरॉन्स को एक्टिवेट रखते हैं, उनका प्रयोग करना भी उतना ही जरूरी है।

Diet and its effect on mental health:


आपके खाने और आहार के जो भी गुण और तत्व होते हैं, वे आपके शरीर को मिलते हैं, जैसे कि प्रोटीन (मांस पेशियों के विकास में सहायक), कार्बोहाइड्रेट (ऊर्जा देते हैं), विटामिन (रोग प्रतिरोधक क्षमता,आंखों, त्वचा, बालों, हड्डियों, नाखूनों के लिए), खनिज लवण (हड्डियों, रक्त मज़्ज़ा के स्वास्थ्य और ब्लड प्रेशर कंट्रोल के लिए), इन्हें ही पोषण कहते हैं।




6 न्यूट्रिएंट्स जो आपके मेंटल हेल्थ के लिए हैं बेहद जरूरी...

विटामिन B12

विटामिन बी12 केवल मांस, मछली, दूध और पनीर से ही प्राप्त होता है। यह न तो हरी सब्जियों में होता है, न फलों में, जैसा कि हमें अकसर गलतफहमी रहती है। हां, फॉलिक एसिड लगभग हर भोज्य पदार्थ में मौजूद होता है – सारी सब्जियों और फलों में, यह मीट-मछली में भी पाया जाता है।

विटामिन D

विटामिन डी का सबसे अच्छा, सस्ता और प्राकृतिक स्त्रोत है सूरज की किरण। सुबह की ताजी धूप से विटामिन डी मिलता है। सॉल्‍मन, टुना मछली और अंडे का पीला हिस्सा खाने से भी विटामिन डी की पूर्ति होती है। गाजर के जूस, डेयरी प्रोडेक्ट, भीगे हुए अंकुरित अनाज भी विटामिन डी की भरपाई करते हैं।

ओमेगा 3 फैटी एसिड

यह शाकाहारी और मांसाहारी दोनों स्रोतों से मिलता है। सूखे मेवों, अलसी, सूरजमुखी, सरसों के बीज, कनोडिया या सोयाबीन, स्प्राउट्स, टोफू, गोभी, हरी बीन्स, ब्रोकली, शलजम, हरी पत्तेदार सब्जियों और स्ट्रॉबेरी, रसभरी जैसे फलों में काफी मात्रा में पाया जाता हैै।

मैग्नीशियम

मैग्नीशियम भी हमारे मेंटल हेल्थ को काफी हद तक कंट्रोल में रखता है। इसके मुख्य तत्व हैं - अखरोट, काजू, बादाम, कद्दू के बीज, अलसी के बीज, तील के बीज, सूर्यमुखी के बीज।

सेलेनियम

हमारे शरीर को बहुत कम मात्रा में सेलेनियम की जरूरत होती है, मगर ये हमें स्वस्थ रखने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। ब्राउन राइस, अंडा, सूर्यमुखी के बीज, सी फूड, कॉटेज चीज, मशरूम, पालक, योगर्ट, दूध, दाल, केला में सेलेनियम पाया जाता है।

जिंक

जिंक हमारे शरीर में लगभग 100 प्रकार के एंजाइमों के उत्पादन में मदद करता है। यह एंटीऑक्सिडेंट के रूप में कार्य करता है। ओएस्टर, तिल के बीज, अलसी के बीज, कद्दू के बीज, मूंगफली, राजमा, छोले, मटर, काजू, क्रैब, दही, बीफ, चिकन आदि में भरपूर मात्रा में जिंक पाया जाता है।




ये चीजें हैं जिसमें कुछ तत्व पाए जातें हैं——

कद्दू के बीज: इनमें आयरन,जिंक, मैग्नीशियम, कापर नामक तत्व होते हैं,जिंक की कमी से डिप्रेसन की समस्याए आ जाती है,इसी प्रकार मैग्नीशियम नामक तत्व से न्यूरोलॉजिकल समस्याएं आ जाती हैं।,कद्दू के बीज में कापर और आयरन नामक तत्व से दिमाग़ एक्टिवेट रहता है।

लहसुन—-लहसुन में एलिसिन नामक तत्व पाया जाता है जो मस्तिष्क के लिए फायदेमंद है।

काफी——-कैफीन में एंटीऑक्सीडेंट होता है ,कैफीन में पाए जाने वाले सेरोटोनिन नामक तत्व से मस्तिष्क सक्रिय रहता है।

खट्टे फल—खट्टे फलों में बिटामिन सी प्रचुर मात्रा में पाया जाता है,जो उच्च प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है,जो मस्तिष्क को भी सक्रिय रखता है।

ग्रीन टी—-ग्रीन टी में में एमिनो एसिड पाया जाता है जो न्यूरो ट्रांसमीटर का काम करता है ,मस्तिष्क को एक्टिवेट रखने में सहायता करता है।

ब्लैक बेरी— ब्लैक बेरी ब्रेन सेल को सुरक्षित रखता है।

चॉकलेट—-चॉकलेट में फ्लेविनोइड नमक तत्व ब्रेन के लिए अत्यधिक फायदेमंद है।

पालक—पॉलक में बिटामिन बी-6,फोलिक एसिड,मैग्नीसीयम नामक तत्व प्रचुर मात्रा में पाए जाते हैं जो कोई भी चीज सीखने में मदद करते हैं।

अखरोट—-

अमेरिकी वेज्ञानिको ने शोध पर ये निष्कर्ष निकाला है कि अखरोट में पाए जाने वाले मोनो सैचुरेटेड एसिड से मस्तिष्क को एकाग्र रखने में सहायता मिलती है। तथा ओमेगा थ्री फैटी एसिड से मस्तिष्क को ताकत मिलती ।

इसके अलावा अपने मेंटल हेल्थ को ठीक रखने के लिए केवल सम्पूर्ण आहार लेना ही आवश्यक नहीं है। इसके साथ ही आपको पूरी नींद और एक हेल्थी रूटीन को फॉलो करना भी बेहद जरूरी है।

Next Story
Share it