Top
Aap Ki Khabar

Sensitive teeth treatment at home: अपनाएं ये तरीके, 100 साल चमकेंगे दांत

How to relieve teeth pain at home: अदरक : मुंह के संक्रमण से बचाव के लिए अदरक एक प्राचीन उपचार है।

Sensitive teeth treatment at home: अपनाएं ये तरीके, 100 साल चमकेंगे दांत
X





Sensitive teeth treatment at home: मसूड़े और मुंह के संक्रमण को खत्म करने के घरेलू उपाय क्या हैं? हम अपने मुंह को साफ सुथरा और सुरक्षित कैसे रखें? दांतो को साफ रखने के लिए क्या करें?

सबसे पहले हमें ये देखना होगा कि किस कारण से ये सब हुआ है? सबसे पहले हमें अपना खान पान सुधारना होगा। अगर हमारा खान पान अच्छा है , हम पौष्टिक आहार लेते हैं तो जीवन में हमें जल्दी जल्दी कोई भी रोग नहीं हो सकता। हिलते हुए दांत, कमजोर मसूड़े और मुंह के संक्रमण को खत्म करने के लिए हमें सब से पहले मुंह कि सफाई पर ध्यान देना होगा। नियमित रूप से धूप में 10-15 मिनट बैठना चाहिए। सवेरे उठ कर खाली पेट हल्का गर्म पानी पीना चाहिए।

How to cure teeth pain at home: नमक के पानी से मुंह धोना : मुंह से संबंधित समस्याओं के निदान में नमक का पानी बहुत महत्वपूर्ण होता है। नमक के पानी से कुल्ला करने से मुंह में होने वाले संक्रमण से बचाव होता है जो मसूड़ों में सूजन आने का एक कारण है।




लौंग : मसूड़ों की सूजन दूर करने की यह पारंपरिक पद्धति बहुत प्रभावकारी है। लौंग में यूगेनोल होता है जिसमें एंटीऑक्सीडेंट तथा सूजन को दूर करने का गुण होता है जो सूजन से आराम दिलाने में बहुत प्रभावी होता है।

How to relieve teeth pain at home: अदरक : मुंह के संक्रमण से बचाव के लिए अदरक एक प्राचीन उपचार है। अदरक में सूजन विरोधी गुण होता है जो मसूड़ों की सूजन से राहत दिलाता है तथा मुंह में होने वाले बैक्टीरिया से बचाव भी करता है।

एलोवेरा (घृतकुमारी) : एलोवेरा एक हरफनमौला औषधि है जो कई प्रकार की बीमारियों से लड़ने में सहायक होती है। एलोवेरा जेल की प्रकृति एंटीबैक्टीरियल (बैक्टीरिया विरोधी) और एंटीफंगल (फंगस विरोधी) होती है। यह मसूड़ों की सूजन को दूर करने, मसूड़ों से खून आने तथा मुंह के संक्रमण जैसी समस्याओं को दूर करने में सहायक होती है।

Tooth decay treatment at home: सरसों का तेल: सरसों के तेल में रोगाणुरोधी गुण होता है जो सूजन को दूर करने तथा मसूड़ों की सूजन से राहत पहुंचाने में सहायक होता है। सरसों के तेल में थोडा नमक मिलाएं तथा इस मिश्रण को मसूड़ों पर लगायें। इस उपचार का बार बार उपयोग करने से आपको जल्द ही संक्रमण से छुटकारा मिल जाएगा।

अमरूद की पत्तियां: शायद आपको पता न हो लेकिन अमरूद की पत्तियां भी दांत दर्द को दूर करने का एक प्रभावी उपचार हैं। इसका इस्तेमाल करने के लिए अमरूद की ताजा पत्तियों को दांत दर्द वाली जगह पर दबाकर रखें। कुछ ही देर में आपको आराम मिलने लगेगा। वैसे अगर आप चाहें तो अमरूद की पत्तियों को उबालकर उसे माउथ वाश की तरह भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

कारगर है लहसुन : लहसुन के एंटी−बायोटिक गुण दांत दर्द को दूर करने में बेहद प्रभावी होते हैं। इसके इस्तेमाल के लिए लहसुन की कलियों को कूटकर उसमें नमक या काली मिर्च मिलाकर दर्द वाली जगह पर लगाएं। इससे आपको काफी राहत मिलेगी। हालांकि इस उपाय को अपनाते समय एक बात का विशेष ध्यान रखना चाहिए कि लहसुन का इस्तेमाल काटकर नहीं बल्कि कूटकर किया जाना चाहिए। ऐसा करने से लहसुन से तेल का स्त्राव होता है, जो दांत दर्द को ठीक करता है।

फिटकरी को पानी में डालकर उससे कुल्ले करें या सैंधा नमक पानी में डालकर उससे कुल्ले करें।

3–4 बूंद सरसों के तेल में एक चुटकी सेंधा नमक मिलाकर दांतों और मसूड़ों पर मालिश करने से दांत का दर्द ठीक होता है और मसूड़े मजबूत होते हैं।

एक कली लहसुन को छील कर नमक में डूबो कर चबाएं इससे भी दांत मजबूत होते हैं।

अगर मसूड़े कमजोर हैं और दांत भी हिल रहे हैं तो हमें बबूल या नीम की दातुन करनी चाहिये, ब्रश बिल्कुल नहीं करना चाहिए।

खाने में मीठा,ज्यादा नमक, खट्टा न खाएं।

एक तो सवेर उठकर बिना दातुन करे ,पानी पीने के बाद मुंह में तिल या सरसों का तेल भरके गंडूष करें जिसे आजकल ऑयल पुलिंग कहते हैं। इसका बहुत ज्यादा फायदा होता है। गंडुष 10–15 मिनट तक करें। तेल को मुंह में भरकर जीभ से हिलाना होता है फिर ये तेल थूक दें तथा गरम पानी से कुल्ला करें, फिर दातुन कर सकते हैं।

खाना खाने के बाद हमें थोड़े से तिल रोज चबाना चाहिए। इनको अपनाकर सौ साल तक हमारे दांत बिल्कुल नहीं हिलेगे।

Next Story
Share it