Top
Aap Ki Khabar

गाय के "गोबर" के दियों से रोशन होगी अयोध्या सहित देश की Dipawali 2020,

राष्ट्रीय कामधेनु आयोग पर्यावरण को समर्पित गाय के गोबर और पंचगव्य से बनाएगा दिए और अगरबत्ती

गाय के गोबर के दियों से रोशन होगी अयोध्या सहित देश की Dipawali 2020,
X

राष्ट्रीय कामधेनु आयोग इस Dipawali 2020 को गौ सेवा को समर्पित करेगा 

National News Desk -Prime Minister Narendra Modi द्वारा शुरू की गई वह कल फालतू कल मुहिम के तहत गणेश पूजन के समय अपनाई गई नीति अब इस समय पूरे देश में अपनाई जाएगी जिसमें पंचगव्य से संबंधित सामग्री राष्ट्रीय कामधेनु आयोग द्वारा बनाकर गाय के गोबर एवं गाय से ही संबंधित उपयोग की ऐसी वस्तु है जिसे दीपावली में उपयोग किया जा सके जिसमें दिए मोमबत्ती एवं अन्य उत्पादों को पूरे देश में बनाकर राष्ट्रीय कामधेनु आयोग द्वारा बेचा जाएगा जिसका लक्ष्य यह है कि उससे जो बनाए गए दिए हैं उसमें से तीन लाख दिए केवल अयोध्या में दीपावली के दिन दीप प्रज्वलन में उपयोग किया जाएगा प्राइम मिनिस्टर नरेंद्र मोदी द्वारा गणेश उत्सव के समय महाराष्ट्र में राष्ट्रीय कामधेनु आयोग को प्रोत्साहित किया गया था जिसके क्रम में उसकी सफलता को देखते हुए अब दीपावली त्योहार के समय चाइनीस प्रोडक्ट को टक्कर देने के लिए सबसे अच्छा माध्यम गौर सेवा से संबंधित उपयोग की चीजों को स्थानीय लोगों द्वारा बनवा कर उसे पूरे देश में भेजा जाएगा जिससे वह वोकल फार लोकल vocal for local की मुहिम को मजबूती मिल सके.

कामधेनु आयोग का लक्ष्य है कि दीपावली के समय 11 करोड़ घरों में के गोबर से निर्मित दिए से रोशन किया जाए

इस काम में स्वयं सहायता समूह गोपाल को एवं स्थानीय लोगों का सहयोग लेकर एक बहुत बड़े पैमाने पर पर्यावरण को सुरक्षित रखने वाले उत्पादों को तैयार किया जाएगा और उसका सबसे बड़ा लाभ यह होगा कि स्थानीय लोगों को रोजगार मिलेगा बेरोजगारी दूर होगी और साथ ही एक ऐसे प्रोडक्ट बनाए जाएंगे जिसका उपयोग देश में देशवासियों द्वारा ही बनाए गए उसमें किया जाएगा हर दीपावली में इससे पहले चाइनीस प्रोडक्ट का बड़े पैमाने पर इस्तेमाल होता था और भारत से काफी सारा पैसा चाइना में जाता था इस पर स्थानीय लोगों को रोजगार देने के उद्देश्य से जो कोविड-19 की दौरान बार पहले से झूल रहे हैं उनको काफी सहूलियत देने के लिए यह सारे कार्य किए जा रहे हैं गणेश उत्सव के समय पर्यावरण को सुरक्षित रखने वाले ऐसी मूर्तियां बनाई गई और मूर्तिकार भी स्थानीय ही लोग थे और उससे पर्यावरण को भी खतरा नहीं हुआ पर्यावरण की सुरक्षा भी काफी अच्छे तरीके से हुई और उसी के रिस्पांस को देखते हुए कामधेनु आयोग ने अबकी दीपावली को बड़े पैमाने पर इस काम को करने का प्रयास किया है और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा किए गए प्रोत्साहन को इन लोगों के द्वारा काफी अच्छा महसूस किया।






Next Story
Share it