आपके हस्ताक्षर क्या बोलते है ? Importance Of Your Signature | Astrology In Hindi | Raj Deepak Mishra

Importance Of Your Signature

Indian Astrology Hindi

Whats A Signature In Astrology

एक मजबूत हस्ताक्षर क्या है?

आपकी लिखावट आपके बारे में क्या कहती है। ये तो हम सब जानते हैं कि दुनिया में हर इंसान की लिखावट अलग-अलग होती है और उसकी लिखावट में उस इंसान का व्यक्तित्व भी झलकता है। ऐसा ही कुछ हुआ 15 साल के राजदीपक मिश्रा के साथ जब उनके पिता के पास चार चिट्ठियां आयी और वो 3 चिट्ठियों को तो पहचान गए लेकिन एक चिट्ठी नहीं पहचान पाए कि किसकी है। उन्होंने ये सवाल अपने पिता से पूछा कि वो 3 चिट्ठियों को तो पहचान गए लेकिन एक को क्यों नहीं पहचान पाए। उनके पिता ने उन्हें उत्तर में बताया कि तीन चिट्ठियों की लिखावट को वो जानते है जबकि एक की लिखावट उन्हें नहीं पता जिस कारण वो एक चिट्ठी नहीं पहचान पाए कि वो किसकी है। जिसके बाद से उन्होंने लिखावट पर शोध चालू कर किया। 

Importance Of Your Signature

Signature पर रिसर्च 

राजदीपक ने अपने इस शोध को बाद में ज्योतिष से जोड़ा। पहले राजदीपक लिखावट पर सर्च करते थे लेकिन बाद में वो सिग्नेचर पर शोध करने लग गए। राजदीपक कहते हैं कि एक इंसान के सिग्नेचर न सिर्फ उसके व्यक्तित्व का आइना होता है बल्कि यह उसके भूत, भविष्य और वर्तमान तक को दिखा देता है। उनका कहना है कि अगर बच्चा एक ही समय में जन्म लेता है तो उसकी कुंडली मिल सकती है। यही न्यूमरोलॉजी में भी होता है लेकिन हस्ताक्षर विज्ञान में किसी भी इंसान का दूसरे से मेल खाना लगभग असंभव है। राजदीपक व्यक्ति द्वारा इंक के चयन और हस्ताक्षर करते समय दबाव आदि के द्वारा भविष्यवाणी करते हैं जो अधिकतर सटीक होती है। 

लोगों के हस्ताक्षर कैसे पढ़े जाते हैं?

राजदीपक पिछले 40 साल से इस क्षेत्र में रिसर्च कर रहे हैं। इसके अलावा उन्होंने इस क्षेत्र में एक किताब 'सिग्नेचर बोलते हैं' लिखी है। उनका सफर अयोध्या से शुरू हुआ लेकिन बाद एक दिन उनका इंटरव्यू एक पत्रिका में आने के बाद लोगों ने उनकी इस कला में दिलचस्पी लेना शुरू किया। इसके बाद वो अयोध्या से पहुंचे मुंबई जहाँ उन्होंने कई फिल्म स्टार और डाइरेक्टर के हस्ताक्षर देखकर भविष्यवाणी की। धीरे-धीरे वो बॉलीवुड समेत अन्य लोगों में प्रचिलित होने लगे और लोग उनके पास अपने भविष्य को जानने के लिए आने लगे। उनका कहना है कि वो सिग्नेचर देखकर 80 से 90 प्रतिशत सही भविष्यवाणी बता सकते हैं। 

सिग्नेचर से आप क्या समझते हैं?

सिग्नेचर से आप क्या समझते हैं?

राजदीपक ने बताया कि मनमोहन सिंह का दुबारा प्रधानमंत्री बनना, पी. वी. नरसिम्हा का जेल जाना, सद्दाम हुसैन का तख्ता पलटा जाना, धोनी का वर्ल्ड कप जीतना जैसी प्रेडिक्शन उन्होंने की जो सही साबित हुई जोकि कई मैगजीन में प्रकाशित भी हुई थीं। नित्य गोपाल दास जी से संबंध के बारे में वो कहते हैं कि वो बहुत पुराने समय से उनके साथ जुड़े हैं। बचपन से ही वो राम नाम को लिखते आ रहे हैं जिसका उनके नाम एक रिकॉर्ड भी हैं। इसके अलावा नित्य गोपाल दास द्वारा लिखी पुस्तक में भी राजदीपक का जिक्र मिलता है। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सिग्नेचर पर चर्चा करते हुए कहा कि वो काफी प्रभावशाली है जैसा इंदिरा गांधी का हुआ करता था। ऐसे लोगों के सामने कोई भी टिक नहीं सकता है। 

ज्योतिष में हस्ताक्षर का क्या अर्थ है?

राजदीपक का कहना है कि सिग्नेचर से इंसान की जानकारी जुटाना ये पूरी तरह से उनका रिसर्च है और उन्हें उम्मीद है कि भविष्य में लोग इसके तरफ और रिसर्च करेंगे और इसके बारे में जानना चाहेंगे। वो कहते हैं कि अगर किसी का सिग्नेचर उनके हिसाब से सही नहीं होता तो वो उसे कुछ सही करने की सलाह देते हैं, ये भी बताते हैं कि कुछ अक्षर लिखने का तरीका आदि चेंज कराते हैं। जिससे लोगों को लाभ मिला है। राजदीपक कहते हैं कि वो दुबई और लंदन भी गए हैं लोगों के सिग्नेचर को देखने के लिए। जिसके लिए लोग उन्हें बुलाते हैं। 

हनुमानगढ़ी से है संबंध 

राम मंदिर के सवाल पर उन्होंने कहा कि हनुमानगढ़ी से उनका विशेष संबंध है। वो बताते हैं कि महाराज नित्य गोपाल की उनपर विशेष कृपा है। उन्होंने बताया कि अयोध्या से उनका विशेष जुड़ाव है और वो जब भी समय पाते हैं वो अपने जन्मभूमि अपने घर जाते हैं और उनके परिवार के कई लोग अयोध्या में रहते भी हैं। लेकिन क्योंकि मुंबई उनकी कार्यस्थली है जिसके काऱण उन्हें अयोध्या जाने का समय कम मिल पाता है। 

Share this story