असंतुष्ट नेता शिंदे नहीं माने, पर उद्धव ठाकरे से की बात

असंतुष्ट नेता शिंदे नहीं माने, पर उद्धव ठाकरे से की बात
असंतुष्ट नेता शिंदे नहीं माने, पर उद्धव ठाकरे से की बात सूरत, 21 जून (आईएएनएस)। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के दूत शिवसेना के असंतुष्ट नेता एकनाथ शिंदे और ठाकरे के बीच संपर्क स्थापित करने में सफल रहे, लेकिन सूत्रों ने कहा कि शिंदे अडिग थे और ठाकरे के लिए उनके कुछ कठिन सवाल हैं।

ठाकरे ने मंगलवार दोपहर दो नेताओं - मिलिंद नार्वेकर और रवींद्र फटक को सूरत जाने और एकनाथ शिंदे के साथ आमने-सामने बैठक करने के लिए प्रतिनियुक्त किया।

सूत्रों ने बताया कि करीब डेढ़ घंटे की मुलाकात के बाद मिलिंद मुंबई के लिए रवाना हो गए। रवाना होने से पहले उन्होंने कहा, एकनाथ शिंदे ने उद्धव ठाकरे के साथ टेलीफोन पर बातचीत की है।

लेकिन घटनाक्रम से जुड़े सूत्रों का कहना है कि नवरेकर और फटक से मुलाकात के बाद भी एकनाथ शिंदे हिले नहीं, उल्टे उन्होंने उनसे कुछ कड़े सवाल किए।

शिंदे ने दूत से सवाल किया, जब मैं अभी भी एक विधायक और कैबिनेट में मंत्री हूं, तब भी मुख्यमंत्री मुझे विधायक दल के नेता के रूप में कैसे हटा सकते हैं?

दूत ने कहा कि उन्होंने ठाकरे को यह भी बताया कि शिंदे ने पूरे विश्वास के साथ कहा कि उनके पास नंबर हैं और उन्हें दूसरों की चिंता करने की जरूरत नहीं है।

फटक और नार्वेकर के सूरत पहुंचने के बाद उन्हें पुलिस ने होटल ली मेरिडियन के पास रोक दिया, जहां सोमवार रात से असंतुष्ट विधायक ठहरे हुए हैं। एकनाथ के मिलने के बाद ही उन्हें होटल में प्रवेश करने दिया गया।

हालांकि, नवरेकर ने यह नहीं बताया कि क्या उन्हें शिवसेना के किसी अन्य विधायक से मिलने की अनुमति दी गई, जो होटल में छिपे हुए हैं।

सूरत के सूत्रों ने बताया कि असंतुष्ट विधायकों की संख्या बढ़ती जा रही है और शाम तक एक महिला समेत दो और विधायक होटल पहुंच गए हैं। पहले होटल में सिर्फ 30 कमरे बुक हुए थे, अब 20 और बुक हो चुके हैं।

--आईएएनएस

एसजीके/एएनएम

Share this story