आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री ने ऊर्जा संकट पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से तत्काल हस्तक्षेप की मांग की

आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री ने ऊर्जा संकट पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से तत्काल हस्तक्षेप की मांग की
आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री ने ऊर्जा संकट पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से तत्काल हस्तक्षेप की मांग की अमरावती, 9 अक्टूबर (आईएएनएस)। आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री वाई.एस.जगन मोहन रेड्डी ने ऊर्जा संकट के कारण राज्य में भयावह स्थिति को देखते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से तत्काल हस्तक्षेप की मांग की है।

कोयले की कमी और बिजली वितरण कंपनियों के खराब वित्त पर अपनी चिंता व्यक्त करते हुए, उन्होंने पीएम मोदी से दैनिक आधार पर बिजली उत्पादन परि²श्य की निगरानी करने का आग्रह किया।

पीएम को लिखे पत्र में मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य के लिए ऊर्जा की मांग को पूरा करना कठिन होता जा रहा है।

उन्होंने कहा कि राज्य की अनिश्चित वित्तीय स्थिति को देखते हुए, वह खुले बाजार से आवश्यक बिजली की खरीद करने में सक्षम नहीं है क्योंकि बढ़ती मांग के साथ खरीद मूल्य भी बढ़ गया है।

जगन मोहन रेड्डी ने पीएम मोदी से कोयला मंत्रालय और रेलवे को आंध्र प्रदेश में थर्मल पावर स्टेशनों को 20 कोयला रैक आवंटित करने का निर्देश देने का आग्रह किया।

जगन मोहन रेड्डी ने बताया कि आंध्र प्रदेश में कोविड के बाद बिजली की मांग पिछले छह महीनों में 15 प्रतिशत और पिछले एक महीने में 20 प्रतिशत बढ़ी है। उन्होंने कहा कि कोयले की कमी के साथ यह ऊर्जा क्षेत्र को पिछे की ओर धकेल रहा है।

उन्होंने कहा, यह काफी खतरनाक स्थिति है अगर यही स्थिति बनी रही तो बिजली वितरण कंपनियों की वित्तीय स्थिति और भी खराब हो जाएगी।

उन्होंने यह भी कहा कि फसल की कटाई के अंतिम समय में अधिक पानी की आवश्यकता होती है। अगर बिजली आपूर्ति बंद कर दी गई तो खेत सूख जाएंगे।

--आईएएनएस

एनपी/एएनएम

Share this story