आंध्र प्रदेश ने 144 सरकारी अस्पतालों में ऑक्सीजन प्लांट किए स्थापित

आंध्र प्रदेश ने 144 सरकारी अस्पतालों में ऑक्सीजन प्लांट किए स्थापित
आंध्र प्रदेश ने 144 सरकारी अस्पतालों में ऑक्सीजन प्लांट किए स्थापित अमरावती, 10 जनवरी (आईएएनएस)। आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री वाई.एस. जगन मोहन रेड्डी ने सोमवार को वर्चुअल मोड में 144 प्रेशर स्विंग एब्जॉर्पशन (पीएसए) ऑक्सीजन प्लांट का उद्घाटन किया। राज्य भर के विभिन्न सरकारी अस्पतालों में ऑक्सीजन प्लांट स्थापित किए गए हैं।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार तीसरी लहर से पहले कोरोनावायरस को रोकने के लिए सभी उपाय कर रही है और इसके हिस्से के रूप में, सरकारी अस्पतालों में 426 करोड़ रुपये की लागत से 144 ऑक्सीजन प्लांट स्थापित किए गए हैं।

सरकार 144 ऑक्सीजन प्लांट स्थापित करने के अलावा 100 बेड से अधिक क्षमता वाले निजी अस्पतालों को ऑक्सीजन प्लांट लगाने के लिए 30 फीसदी सब्सिडी भी दे रही है। उन्होंने कहा कि ऑक्सीजन की आत्मनिर्भरता हासिल करने के लिए कदम उठाए गए, क्योंकि दूसरी लहर के दौरान पूरे देश को ऑक्सीजन की भारी कमी का सामना करना पड़ा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार ने लिक्विड मेडिकल ऑक्सीजन (एलएमओ) के परिवहन के लिए 74 एलएमओ टैंकों के साथ 25 ऑक्सीजन क्रायोजेनिक आईएसओ कंटेनर खरीदे हैं। विभिन्न सरकारी अस्पतालों में 90 करोड़ रुपये की लागत से 24,419 बिस्तरों तक ऑक्सीजन पाइपलाइन और सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों में 20 बिस्तरों वाली बाल चिकित्सा इकाई की स्थापना की गई है।

उन्होंने कोविड के शुरुआती दिनों को याद करते हुए कहा कि राज्य में 20 अत्याधुनिक वीआरडीएल प्रयोगशालाएं स्थापित की गई हैं, जिससे जांच क्षमता शून्य से बढ़ाकर एक लाख प्रतिदिन की जा रही है। ओमिक्रॉन से संभावित खतरे के साथ, विजयवाड़ा में एक जीनोम अनुक्रमण प्रयोगशाला स्थापित की गई है, जो केरल के बाद देश में दूसरे स्थान पर है।

इस अवसर पर रेड्डी ने चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग द्वारा लाए गए 20 प्रकार के उन्नत चिकित्सा उपकरणों का निरीक्षण किया और यहां कैंप कार्यालय में प्रदर्शन कर उनके कामकाज की जानकारी ली।

इस अवसर पर उपमुख्यमंत्री अल्ला काली कृष्ण श्रीनिवास, नगर निगम एवं शहरी विकास मंत्री बोत्सा सत्यनारायण सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

--आईएएनएस

एसकेके/आरजेएस

Share this story