आंध्र हाईकोर्ट के आदेश पर कोंडापल्ली नगर पालिका अध्यक्ष पद के लिए हुआ चुनाव

आंध्र हाईकोर्ट के आदेश पर कोंडापल्ली नगर पालिका अध्यक्ष पद के लिए हुआ चुनाव
आंध्र हाईकोर्ट के आदेश पर कोंडापल्ली नगर पालिका अध्यक्ष पद के लिए हुआ चुनाव विजयवाड़ा, 24 नवंबर (आईएएनएस)। आंध्र प्रदेश के कृष्णा जिले में कोंडापल्ली नगर पालिका के अध्यक्ष और उपाध्यक्ष का चुनाव बुधवार को आंध्र प्रदेश उच्च न्यायालय के निर्देश पर हुआ।

राज्य चुनाव आयोग ने कड़ी सुरक्षा के बीच चुनाव प्रक्रिया पूरी की। हालांकि, अदालत के आदेश के अनुसार, परिणाम घोषित नहीं किया गया है।

तेलुगू देशम पार्टी (तेदेपा) के वार्ड सदस्य विजयवाड़ा के सांसद केसिनेनी नानी के नेतृत्व में नगरपालिका कार्यालय पहुंचे, जबकि वाईएसआर कांग्रेस पार्टी (वाईएसआरसीपी) के वार्ड सदस्यों का नेतृत्व विधायक वसंत कृष्ण प्रसाद ने किया।

सोमवार और मंगलवार को मतदान नहीं हो सका। विपक्षी तेदेपा के वार्ड सदस्यों और केसिनेनी नानी ने उच्च न्यायालय का दरवाजा खटखटाकर सहायक चुनाव अधिकारी को बिना किसी देरी के चुनाव कराने का निर्देश देने की मांग की थी।

अदालत ने पाया कि सांसद केसिनेनी नानी को पदेन सदस्य के रूप में चुनाव में मतदान करने की अनुमति देने के उसके आदेश को लागू नहीं करने पर चुनाव स्थगित कर दिया गया था।

न्यायमूर्ति डी. रमेश ने विजयवाड़ा के पुलिस आयुक्त (प्रभारी) जी. पाला राजू और सहायक चुनाव अधिकारी शिवनारायण रेड्डी को तलब किया था। जब रेड्डी ने कहा कि चुनाव कराने के लिए स्थिति उपयुक्त नहीं है, तो न्यायाधीश ने उनसे पूछा कि उन्होंने पुलिस की मदद क्यों नहीं मांगी।

बुधवार को चुनाव कराने का निर्देश जारी करने के बाद अदालत ने मामले की सुनवाई 25 नवंबर तक के लिए स्थगित कर दी। चुनाव आयोग को अगले आदेश तक चुनाव परिणाम घोषित नहीं करने का निर्देश दिया गया।

पिछले हफ्ते हुए नगर निकाय चुनावों में सत्तारूढ़ वाईएसआरसीपी और तेदेपा ने 14-14 वार्डो में जीत हासिल की थी। हालांकि, निर्दलीय वार्ड सदस्य के. श्रीलक्ष्मी के पार्टी में शामिल होने से तेदेपा की ताकत बढ़कर 15 हो गई।

नवनिर्वाचित वार्ड सदस्यों को सोमवार को अध्यक्ष और उपाध्यक्ष का चुनाव करना था। विधायक कृष्ण प्रसाद के पदेन सदस्य के रूप में अपना वोट डालने के योग्य होने के कारण वाईएसआरसीपी सदस्यों की संख्या 15 हो गई थी। हालांकि, वाईएसआरसीपी सदस्यों ने सोमवार को चुनाव इस आधार पर रोक दिया कि विजयवाड़ा के सांसद मतदान में भाग नहीं ले सकते।

उच्च न्यायालय ने नानी को अपना वोट डालने की अनुमति दी, लेकिन उनके वोट की वैधता पर फैसला बाद में सुनाया जाएगा।

हाल ही में 13 शहरी स्थानीय निकायों के लिए हुए चुनावों में वाईएसआरसीपी ने स्पष्ट बहुमत के साथ 11 में जीत हासिल की थी। तेदेपा ने प्रकाशम जिले में दारसी नगरपालिका जीती, जबकि कोंडापल्ली में परिणाम बराबरी पर रहा।

--आईएएनएस

एसजीके/एएनएम

Share this story