आईईडी डिफ्यूज करके बड़ा हमला टालने पर गंभीर ने दिल्ली पुलिस और एनएसजी के काम को सराहा

आईईडी डिफ्यूज करके बड़ा हमला टालने पर गंभीर ने दिल्ली पुलिस और एनएसजी के काम को सराहा
आईईडी डिफ्यूज करके बड़ा हमला टालने पर गंभीर ने दिल्ली पुलिस और एनएसजी के काम को सराहा नई दिल्ली, 14 जनवरी (आईएएनएस)। पूर्वी दिल्ली से भारतीय जनता पार्टी के सांसद गौतम गंभीर ने शुक्रवार को दिल्ली पुलिस की सराहना की कि उसने समय पर एक इम्प्रोवाइज्ड एक्सप्लोसिव डिवाइस (आईईडी) को डिफ्यूज करके राष्ट्रीय राजधानी की गाजीपुर फूल मंडी इलाके में एक बड़े हमले को टाल दिया।

दिल्ली पुलिस और एनएसजी द्वारा आज पूर्वी दिल्ली के गाजीपुर में आईईडी विस्फोटक को निष्क्रिया किया गया और गणतंत्र दिवस से कुछ दिन पहले ही एक बड़ा हमला टल गया।

इस घटनाक्रम पर एक ट्वीट करते हुए भाजपा नेता ने कहा, पूर्वी दिल्ली के गाजीपुर में आज दिल्ली पुलिस और एनएसजी द्वारा किया गया शानदार काम। गणतंत्र दिवस से पहले एक बड़ा हमला टला।

गणतंत्र दिवस से कुछ दिन पहले राष्ट्रीय राजधानी की गाजीपुर फूल मंडी में शुक्रवार सुबह एक लावारिस बैग के अंदर से इंप्रोवाइज्ड एक्सप्लोसिव डिवाइस (आईईडी) मिलने की सूचना से हड़कंप मच गया।

विस्फोटक मिलने की जानकारी मिलते ही आसपास के लोगों में दहशत फैल गई।

एक वरिष्ठ अधिकारी ने आईएएनएस को बताया, एक संदिग्ध बैग से एक आईईडी बरामद किया गया है और इसे निष्क्रिय करने के लिए एक नियंत्रित विस्फोट किया गया।

दमकल विभाग के एक अधिकारी के अनुसार, शहर की गाजीपुर फूल मंडी में एक लावारिस बैग पड़े होने की सूचना सुबह करीब 10.20 बजे मिली, जिसके बाद दमकल की एक गाड़ी को मौके पर भेजा गया।

अधिकारियों ने कहा कि राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड के बम निरोधक दस्ते की एक टीम और दिल्ली पुलिस की आतंकवाद रोधी इकाई, विशेष प्रकोष्ठ के अधिकारी भी स्थिति का जायजा लेने के लिए मौके पर पहुंचे।

इसके बाद पुलिस ने लोगों की सुरक्षा के लिए पूरे इलाके की घेराबंदी कर दी। बम निरोधक दस्ते द्वारा विस्फोट को रोकने के लिए टोटल कंटेनमेंट वेसल (टीवीसी) नामक एक बम डिस्पोजल कंटेनर लाया गया था।

एनएसजी बम निरोधक दस्ते ने पुलिस कर्मियों की मदद से एक खुले मैदान में लगभग 8 फीट की खाई खोदी, जहां आईईडी से लदे बैग का निपटान किया गया। एक अधिकारी ने कहा, एनएसजी ने दोपहर करीब 1.30 बजे बरामद आईईडी का नियंत्रित विस्फोट (निष्क्रिय) किया।

सुरक्षाकर्मियों की तारीफ करते हुए गंभीर ने कहा, हम जिंदा हैं, क्योंकि वे सब कुछ जोखिम में डालते हैं! हैशटैग सेवियर्स।

क्रिकेटर से राजनेता बने 40 वर्षीय गंभीर आतंकवाद और राष्ट्रीय सुरक्षा के मुद्दे पर बेहद मुखर रहे हैं। पिछले साल नवंबर में गंभीर को आईएसआईएस-कश्मीर से ई-मेल के माध्यम से दो बार जान से मारने की धमकी मिली थी। दिल्ली पुलिस के साइबर सेल ने पाकिस्तान में कराची से लिंक जोड़ते हुए धमकी भरे मेल के स्थान का पता लगाया था। जांच में सफलता नव निर्मित इंटेलिजेंस फ्यूजन और स्ट्रैटेजिक ऑप्स यूनिट द्वारा हासिल की गई थी।

--आईएएनएस

एकेके/एएनएम

Share this story