आईएमडी और पोसोको ने पूर्व मौसम की जानकारी के फायदे पर रिपोर्ट लॉन्च की

आईएमडी और पोसोको ने पूर्व मौसम की जानकारी के फायदे पर रिपोर्ट लॉन्च की
आईएमडी और पोसोको ने पूर्व मौसम की जानकारी के फायदे पर रिपोर्ट लॉन्च की नई दिल्ली, 14 जनवरी (आईएएनएस)। भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) और नेशनल ग्रिड ऑपरेटर पावर सिस्टम ऑपरेशन कॉरपोरेशन लिमिटेड (पोसोको) ने शुक्रवार को संयुक्त रूप से एक रिपोर्ट जारी की, जिसमें बिजली व्यवस्था के विश्वसनीय, सुरक्षित और आर्थिक संचालन के लिए पूर्व मौसम की जानकारी के फायदों के बारे में बताया गया है।

रिपोर्ट भारतीय ग्रिड के सुरक्षित, विश्वसनीय और आर्थिक संचालन के लिए मौसम की जानकारी का उपयोग, जो इस तथ्य को सामने लाती है कि ऊर्जा क्षेत्र मानव गतिविधि के सबसे महत्वपूर्ण क्षेत्रों में से एक है, जो कि मौसम की स्थिति पर अत्यधिक निर्भर है, जिसे केंद्रीय विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्री डॉ जितेंद्र सिंह ने आईएमडी के 147वें स्थापना दिवस समारोह के दौरान शुक्रवार को जारी किया।

बिजली क्षेत्र के लिए एक समर्पित मौसम पोर्टल आईएमडी और पोसोको द्वारा संयुक्त रूप से विकसित किया गया है और इसमें मौसम पूर्वानुमान, वास्तविक समय मौसम परि²श्य और देश भर के विभिन्न स्थानों के पिछले डेटा से संबंधित जानकारी शामिल है।

पोसोको के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक, केवीएस बाबा ने कहा, आईएमडी और पोसोको के बीच बनाई गई साझेदारी ने एक लंबा सफर तय किया है और कार्यशालाओं, मौसम पोर्टल के विकास और संदर्भ दस्तावेजों के प्रकाशन जैसी विभिन्न पहलों के माध्यम से मजबूत किया है। ये सभी पहलें सिस्टम ऑपरेटरों के लिए उपयोगी साबित हुई हैं और सुचारू बिजली व्यवस्था संचालन को सक्षम किया है।

उन्होंने कहा कि अक्षय ऊर्जा संसाधनों की उच्च पैठ के साथ, जो मौसम पर भी अत्यधिक निर्भर हैं, सिस्टम ऑपरेटरों के लिए चुनौतियां और बढ़ेंगी और मौसम की जानकारी की उपलब्धता और नए उपकरणों के विकास के लिए आंतरायिक और परिवर्तनशील पीढ़ी द्वारा उत्पन्न चुनौतियों का सामना करने की आवश्यकता होगी।

मौसम विज्ञान के आईएमडी महानिदेशक, डॉ मृत्युंजय महापात्र ने कहा कि आईएमडी ने पोसोको के साथ भागीदारी की है और देश भर में सिस्टम ऑपरेटरों को सटीक मौसम पूर्वानुमान और वास्तविक समय मौसम की जानकारी के साथ सुसज्जित किया है, जिससे देश के बेहतर बिजली व्यवस्था संचालन को सक्षम किया और दोनों राष्ट्रीय अर्थव्यवस्था के इस महत्वपूर्ण क्षेत्र की उभरती जरूरतों के लिए सहयोग का और विस्तार करेंगे।

--आईएएनएस

एचके/

Share this story