आप नेताओं को नहीं मिली करतारपुर जाने की इजाजत

आप नेताओं को नहीं मिली करतारपुर जाने की इजाजत
आप नेताओं को नहीं मिली करतारपुर जाने की इजाजत नई दिल्ली, 18 नवम्बर (आईएएनएस)। आम आदमी पार्टी (आप) ने पार्टी ने अपने प्रतिनिधिमंडल को करतारपुर साहिब जाने की मंजूरी न देने का आरोप लगाया है।

दरअसल सांसद भगवंत मान के नेतृत्व में आप पार्टी का के प्रतिनिधिमंडल को करतारपुर साहिब शुक्रवार को जाना चाहता था। इसमें पार्टी का राघव चड्ढा भी शामिल थे लेकिन पार्टी नेताओं को इसकी मंजूरी नहीं मिली।

आप संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के अनुसार केंद्र सरकार ने उनकी जाने की मांग को खारिज कर दिया है। केंद्र के इस फैसले पर केजरीवाल ने कहा कि ऐसी राजनीति देश और समाज के लिए अच्छी नहीं है। गुरु पर्व के दिन गुरु महाराज जी के दरबार में माथा टेकने से रोकना तो बहुत गलत है। गुरु महाराज जी के दरबार में माथा टेकने और अरदास करने से तो किसी दुश्मन को भी नहीं रोकना चाहिए।

वहीं आप के नेता और पंजाब सह प्रभारी राघव चड्ढा ने कहा कि करतारपुर साहिब जाने के लिए उनकी पार्टी ने केंद्र की मोदी सरकार और पंजाब की चरण जीत सिंह चन्नी सरकार को अर्जी दी थी, लेकिन आप को करतारपुर साहिब जाने की इजाजत नहीं मिली है। चड्ढा ने इस संबंध में आधिकारिक बयान भी जारी कर बताया है कि आप के विधायकों व सांसद को पाकिस्तान जाने की इजाजत नहीं दी गई। जबकि कांग्रेस के सभी विधायकों को इजाजत दे दी गई है। कांग्रेस के कुछ विधायक व मंत्री आज चले गए बाकि शुक्रवार या शनिवार में जाएंगे। उन्होंने चन्नी सरकार और केंद्र के बीच मैच फिक्सिंग का आरोप लगाया।

वहीं इससे पहले आम आदमी पार्टी की पंजाब इकाई ने करतारपुर कॉरिडोर के 20 महीने के बाद खुलने पर खुशी जाहिर की थी। पार्टी ने ऐलान किया था कि उसके तमाम नेता विधायक प्रदेश अध्यक्ष और सांसद भगवंत मान के नेतृत्व में 19 नवंबर को गुरुद्वारा करतार साहिब जाकर दर्शन करेंगे। इसी के बाद 19 नवंबर को पार्टी के सांसद भगवंत मान की अगुवाई में पार्टी विधायकों का एक शिष्टमंडल करतारपुर साहिब जाने की अनुमति मांगी थी।

गौरतलब है कि कोविड-19 की वजह से 16 मार्च 2020 को करतारपुर कॉरिडोर को कुछ समय के लिए बंद कर दिया गया था। हालांकि, इसे अब 17 नवंबर से अब एक बार फिर से श्रद्धालुओं के लिए खोल दिया गया है जिसके बाद श्रद्धालु पाकिस्तान स्थित करतारपुर साहिब के दर्शन के लिए जा सकेंगे। करतारपुर कॉरिडोर खोले जाने की मांग पाकिस्तान की ओर से भी की जा रही थी।

--आईएएनएस

पीटीके/एएनएम

Share this story