उप मुख्यमंत्री ने संभाली यातायात व्यवस्था सुधारने की कमान

उप मुख्यमंत्री ने संभाली यातायात व्यवस्था सुधारने की कमान
उप मुख्यमंत्री ने संभाली यातायात व्यवस्था सुधारने की कमान लखनऊ, 4 जुलाई (आईएएनएस)। यूपी की राजधानी लखनऊ की यातायात व्यवस्था को सुधारने के लिए उप मुख्यमंत्री ब्रजेश पाठक ने कमान संभाली है। उन्होंने पुलिस व प्रशासन के अफसरों को तीन दिन के भीतर यातायात व्यवस्था को दुरुस्त करने का एक्शन प्लान मांगा है।

उप मुख्यमंत्री ब्रजेश पाठक ने गुरुवार को लखनऊ के कलेक्ट्रेट स्थित डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम सभागार में राजधानी के विकास कार्यों और उनकी प्रगति की समीक्षा की। यातायात, नगर निगम, स्वास्थ्य, बिजली, आईटीआई, शिक्षा समेत अन्य विभाग के अफसरों के साथ बैठक की।

उपमुख्यमंत्री ने लखनऊ की यातायात व्यवस्था का मामला उठाया। अधिकारियों से सवाल किए कि इतना बड़ा पुलिस व प्रशासन का अमला होने के बावजूद यातायात व्यवस्था में सुधार क्यों नहीं हो रहा है? उन्होंने कहा कि ट्रैफिक जाम गंभीर समस्या है। इसे खत्म करने की दिशा में तत्काल प्रयास करने होंगे। ट्रैफिक व्यवस्था को दुरुस्त करने के लिए एक्शन प्लान तैयार करें। तीन दिन के भीतर इसका प्रजेंटेशन करें। लखनऊ के गोमतीनगर, हजरतगंज, कालीदास मार्ग, महानगर, स्टेशन रोड समेत दूसरे इलाकों में यातायात की व्यवस्था को सुधारा जाए। बैठक में जिला अधिकारी सूर्यपाल गंगवार, पुलिस कमिश्नर एसबी शिरोडकर व सीएमओ डॉ. मनोज अग्रवाल समेत अन्य अधिकारी मौजूद रहे।

इन बिन्दुओं पर रहा जोर

-ट्रैफिक लाइटें सही से काम करें

-सीसीटीवी कैमरे दुरुस्त रखें

-सुबह स्कूल खुलने व छूटने के वक्त पुलिस मुस्तैद रहे

-अभिभावकों को वाहन सही से खड़े करने के निर्देश दे

-समय-समय पर एनाउंसमेंट करते रहें

-प्रतिबंधित वाहनों को रोके।

उप मुख्यमंत्री ब्रजेश पाठक ने नगर निगम के अफसरों को समुचित कूड़ा निस्तारण के लिए निर्देशित किया। उन्होंने कहा कि कूड़े की उठान नियमित रूप से की जाए। घरों से रोज कूड़ा एकत्र किया जाए। उसे इलाके में ढेर न लगाया जाए। सीधे तय स्थान पर एकत्र कर निस्तारित किया जाए। इससे प्रदूषण को कम करने में मदद मिली। प्रदेश को साफ सुथरा भी बनाया जा सकेगा। लोगों को संक्रमण व दूसरी बीमारियों से बचाने में भी मदद मिलेगी।

उप मुख्यमंत्री ने 50 लाख से अधिक की विकास योजनाओं का प्रगति की रिपोर्ट मांगी। अधिकारियों से कहा कि नियमित रूप से योजनाओं की प्रगति देंखें। स्थलीय निरीक्षण करें। समय-समय पर संबंधित विभाग के अधिकारियों के साथ बैठक करें। किसी भी तरह की चूक नहीं होनी चाहिए। किसी भी योजना में गड़बड़ी या भ्रष्टाचार बरदास्त नहीं किया जाएगा। ऐसा करने वालों पर कठोर कार्रवाई होगी। समय पर जनता को सरकारी योजनाओं का लाभ मिले। इस दिशा में प्रयास करने की जरूरत है।

कोरोना से बचाव के लिए सात अगस्त को वैक्सीनेशन का महाअभियान चलेगा। इसमें बूस्टर (प्रिकास्नरी) डोज लगाई जाएगी। उप मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना वायरस खत्म नहीं हुआ है। अभी सतर्क रहने की जरूरत है। भीड़ भाड़ में जाने से बचें। मास्क लगाकर ही बाहर निकलें।

--आईएएनएम

विकेटी/एएनएम

Share this story