कांग्रेस विधायक अनूप का दावा, झारखंड सरकार गिराने के लिए 10 करोड़ और मंत्री पद का ऑफर था

कांग्रेस विधायक अनूप का दावा, झारखंड सरकार गिराने के लिए 10 करोड़ और मंत्री पद का ऑफर था
कांग्रेस विधायक अनूप का दावा, झारखंड सरकार गिराने के लिए 10 करोड़ और मंत्री पद का ऑफर था रांची, 31 जुलाई (आईएएनएस)। झारखंड के बेरमो विधानसभा क्षेत्र के कांग्रेस विधायक कुमार जयमंगल उर्फ अनूप सिंह ने अपनी ही पार्टी के तीन विधायकों इरफान अंसारी, राजेश कच्छप और नमन विक्सल कोंगाड़ी पर झारखंड सरकार को अस्थिर करने की साजिश में शामिल होने का आरोप लगाया और इस बाबत रांची के अरगोड़ा थाने में लिखित शिकायत दर्ज करायी है। इसमें उन्होंने आरोप लगाया है कि सरकार गिराने के लिए इन साथी विधायकों के जरिए उन्हें 10 करोड़ रुपये और मंत्री पद का ऑफर दिया जा रहा था।

उन्हें बताया गया था कि गुवाहाटी में उनकी असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा शर्मा से मुलाकात करायी जायेगी, जो उन्हें झारखंड में बनने वाली नई सरकार में उन्हें मंत्री पद देने को लेकर आश्वस्त करेंगे।

रांची की अरगोड़ा थाने की पुलिस ने कांग्रेस विधायक की इस लिखित शिकायत को जीरो एफआईआर के तौर पर दर्ज करते हुए इसकी कॉपी पश्चिम बंगाल के हावड़ा (ग्रामीण) की एसपी को भेज दी है। गौरतलब है कि कांग्रेस के तीन विधायकों इरफान अंसारी, राजेश कच्छप और नमन विक्सल कोंगाड़ी को हावड़ा जिले के रानीहाट में शनिवार देर शाम भारी कैश के साथ गिरफ्तार किया गया था।

कांग्रेस विधायक अनूप ने अपनी शिकायत में लिखा है कि इरफान अंसारी, राजेश कच्छप और विक्सल कोंगाड़ी उन्हें कोलकाता बुला रहे थे। उन्हें कहा गया था कि सरकार गिराने के बदले प्रति एमएलए 10 करोड़ रुपये दिये जाने थे। इरफान अंसारी और राजेश कच्छप चाहते थे कि मैं कोलकाता आऊं। वे लोग मुझे गुवाहाटी लेकर जाते। उनके अनुसार वे मेरी मुलाकात असम के सीएम हिमंत बिस्वा शर्मा से कराते और मंत्री पद के लिए आश्वस्त करते। उन्हें यह भी बताया गया था कि हिमंत बिस्वा शर्मा यह सब पार्टी के टॉप लीडर्स के आशीर्वाद और उनकी सहमति से कर रहे हैं।

विधायक अनूप सिंह के अनुसार, इरफान अंसारी ने उनसे कहा कि नई सरकार में उन्हें स्वास्थ्य मंत्री बनाने का वचन दिया गया है। इरफान ने उन्हें यह भी बताया गया कि कल (शनिवार) दोपहर वे कोलकाता पहुंच रहे हैं। उनके लोगों को पैसे भी ट्रांसफर किये गये हैं।

अनूप सिंह ने अपनी शिकायत में पुलिस से आग्रह किया है कि उन्हें अवैध कार्य के लिए प्रभावित करने के मामले में जांच की जाये।

--आईएएनएस

एसएनसी/आरएचए

Share this story