कृषि यंत्रीकरण और ड्रिप इरीगेशन को बढ़ावा दे रही है यूपी सरकार

कृषि यंत्रीकरण और ड्रिप इरीगेशन को बढ़ावा दे रही है यूपी सरकार
कृषि यंत्रीकरण और ड्रिप इरीगेशन को बढ़ावा दे रही है यूपी सरकार लखनऊ, 27 अप्रैल (आईएएनएस)। यूपी सरकार किसानों की आय बढ़ाने के लिए लगातार कोशिश में लगी है। इसके लिए कृषि यंत्रीकरण और ड्रिप इरीगेशन को बढ़ावा दिया जा रहा है।

सरकारी प्रवक्ता ने बताया कि सरकार कृषि यंत्रों की खरीद और ड्रिप इरीगेशन के लिए अनुदान उपलब्ध करा रही है।

विशेषज्ञ बताते हैं कि कृषि यंत्रों के उपयोग से बीज, खाद का उपयोग कम मात्रा होता है और पैदावार भी ज्यादा होती है। साथ ही खर-पतवार पर भी नियंत्रण रहता है। जैसे जीरोट्रिल सीड कम फर्टीलाइजर ड्रिल मशीन का उपयोग करने से खाद और बीज एक साथ गिरता है। पौधे एक लाइन से और बराबर दूरी पर उगते हैं। इससे बिना जोते गए खेत में बुवाई की जा सकती है। खाद और बीज की खपत काफी कम हो जाती है।

यूपी सरकार कृषि यत्रों के उपयोग को बढ़ावा देने के लिए अनुदान देती है। अलग-अलग यंत्रों पर सरकार की तरफ से 50 फीसदी तक अनुदान दिया जाता है। इसके साथ ड्रिप एरीगेशन के माध्यम से भी खेती की लागत में कमी आती है। साथ पानी का अपव्यय नहीं होता है। ड्रिप एरीगेशन के माध्यम से 60 फीसदी तक पानी की बचत होती है। इसके लिए भी सरकार किसानों को सब्सिडी देती है ताकि ज्यादा से ज्यादा किसान इसका उपयोग करें। इसके साथ ही किसानों को सिंचाई के लिए सरकार सोलर पंप भी उपलब्ध करा रही है। सरकार की योजना अगले पांच साल मे एक लाख सोलर पंप उपलब्ध कराने की है। सोलर पंप के उपयोग से सिंचाई की लागत को कम किया जा सकता है।

--आईएएनएस

विकेटी/एएनएम

Share this story