केजरीवाल 15 मई को जाएंगे केरल, ट्वेंटी-20 पार्टी के वार्षिक समारोह में होंगे शामिल

केजरीवाल 15 मई को जाएंगे केरल, ट्वेंटी-20 पार्टी के वार्षिक समारोह में होंगे शामिल
केजरीवाल 15 मई को जाएंगे केरल, ट्वेंटी-20 पार्टी के वार्षिक समारोह में होंगे शामिल नई दिल्ली, 2 मई (आईएएनएस)। दिल्ली के मुख्यमंत्री और आप के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल राजनीतिक दल ट्वेंटी-20 द्वारा आयोजित कार्यक्रम में भाग लेने के लिए जल्द केरल का दौरा करेंगे।

दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल को ट्वेंटी-20 ने 15 मई को अपने वार्षिक समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में शामिल होने के लिए आमंत्रित किया था, जिसे दिल्ली सीएम ने स्वीकार कर लिया है।

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के आमंत्रण को स्वीकार करने के लिए धन्यवाद देते हुए ट्वेंटी 20 के संस्थापक साबू जैकब ने कहा, मैं सीएम अरविंद केजरीवाल का आभारी हूं कि उन्होंने हमारे निमंत्रण को शालीनता से स्वीकार किया। ट्वेंटी 20 भी भारतीय राजनीतिक व्यवस्था को जमीनी स्तर पर मजबूत करने में विश्वास करती है। आम आदमी पार्टी ने हम जैसी पार्टियों को चुनावी सफलता हासिल करने और आगे बढ़ने का रास्ता दिखाया है।

ट्वेंटी 20 की स्थापना दुनिया के दूसरे सबसे बड़े बाल परिधान निर्माता काइटेक्स के एमडी साबू जैकब ने की थी। यह भारत के सबसे सफल गैर पारंपरिक राजनीतिक दलों में से एक है। यह एक सीएसआर संगठन के रूप में शुरू हुआ, लेकिन बाद में एक राजनीतिक दल बनने के लिए प्रेरित हुआ। यह एक तरह का एक राजनीतिक स्टार्ट-अप है, जिसने किजक्कम्बलम ग्राम पंचायत जीतकर अपनी पहचान बनाई। यह केरल के राजनीतिक परि²श्य में लोगों के लिए बहुत आश्चर्य की बात है। राज्य के इतिहास में शायद पहली बार ऐसा हुआ था। अब ट्वेंटी 20 ने अपना विस्तार चार पड़ोसी पंचायतों तक कर दिया है। स्थानीय निकाय चुनाव 2020 में स्पष्ट बहुमत के साथ शासन कर रहे हैं। इसकी सबसे प्रसिद्ध उपलब्धियों में 39 लाख घाटे वाली पंचायत को 13.57 करोड़ के अधिशेष वाली पंचायत में बदलना शामिल है।

आम आदमी पार्टी की तरह ट्वेंटी-20 की सफलता बड़े पैमाने पर किझाक्कम्बलम पंचायत में किए गए कल्याणकारी कार्यक्रमों विशेष रूप से खाद्य सुरक्षा, स्वास्थ्य सुरक्षा, कृषि और गरीबी उन्मूलन के कारण रही है।

गौरतलब है कि ट्वेंटी 20 पार्टी केरल में अपनी राजनीतिक जमीन तलाश रही है वहीं दूसरी ओर आम आदमी पार्टी देशभर के सभी राज्यों में अपने विस्तार में लगी हुई है। ऐसे में केरल की राजनीति में दोनों पार्टियों के बीच बन रहे नय रिश्तों की आहट भी सुनाई दे रही है।

--आईएएनएस

पीटीके/एएनएम

Share this story