खरगोन में आदिवासी की मौत मामले में एसडीओपी निलंबित

खरगोन में आदिवासी की मौत मामले में एसडीओपी निलंबित
खरगोन में आदिवासी की मौत मामले में एसडीओपी निलंबित भोपाल, 14 सितम्बर (आईएएनएस)। मध्य प्रदेश के खरगोन जिले में चोरी के आरेाप में गिरफ्तार आदिवासी युवक की जेल में हुई मौत के मामले में अब अनुविभागीय अधिकारी, पुलिस (एसडीओ,पी) प्रवीण कुमार उईके को निलंबित कर दिया गया है। इससे पहले पुलिस अधीक्षक शैलेंद्र सिंह चौहान को हटाया गया था।

पिछले दिनों बिस्टान थाना क्षेत्र में चोरी के आरोप में पुलिस ने 12 लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था, जिसमें से एक बिशन की जेल में मौत हुई थी। इसके बाद भीड़ ने बिस्टान थाने पर हमला बोला था। इस दौरान पुलिस और भीड़ के बीच जमकर झडप भी हुई थी।

आदिवासी युवक की मौत के मामले में अब एक और कार्रवाई की गई है। राज्य शासन ने खरगोन जिले के भीकनगाँव के एसडीओपी प्रवीण कुमार उइके को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है। शासन द्वारा जारी आदेशानुसार बिस्टान थाने में छह एवं सात सितंबर की दरम्यानी रात में बिशन की मृत्यु के संबंध में कमजोर पर्यवेक्षण और कर्तव्य में लापरवाही के कारण एसडीओपी उइके को निलंबित किया गया है। निलंबन काल में उइके को पुलिस मुख्यालय भोपाल से संबद्ध किया गया है।

इससे पहले इसी मामले में पुलिस अधीक्षक शैलेंद्र सिंह चौहान केा हटाया गया था। साथ ही पांच पुलिस कर्मियों को निलंबित किया गया था। वहीं इस मामले पर सियासत भी गर्माई थी। कांग्रेस ने जांच कमेटी भ्ीा मौके पर भेजी थी, तो वहीं कांग्रेस के नेताओं पूर्व अध्यक्ष अरुण यादव के नेतृत्व में पुलिस महानिदेषक को ज्ञापन सौंपकर दोषियों पर हत्या का मामला दर्ज किए जाने की मांग की थी।

--आईएएनएस

एसएनपी/आरजेएस

Share this story