गृह मंत्रालय ने जम्मू-कश्मीर और पूर्वोत्तर में सीएपीएफ कर्मियों के लिए हवाई सेवा शुरू की

गृह मंत्रालय ने जम्मू-कश्मीर और पूर्वोत्तर में सीएपीएफ कर्मियों के लिए हवाई सेवा शुरू की
गृह मंत्रालय ने जम्मू-कश्मीर और पूर्वोत्तर में सीएपीएफ कर्मियों के लिए हवाई सेवा शुरू की नई दिल्ली, 13 सितम्बर (आईएएनएस)। केंद्रीय गृह मंत्रालय ने केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बलों (सीएपीएफ) के उन जवानों के लिए एयर कूरियर सेवा फिर से शुरू करने का फैसला किया है, जो जम्मू-कश्मीर और पूर्वोत्तर राज्यों में ड्यूटी पर जाने या छुट्टी पर जाने वाले हैं।

गृह मंत्रालय की अधिसूचना के अनुसार, एयर कूरियर सेवाओं को इस साल 1 सितंबर से 31 मार्च, 2022 तक सात महीने के लिए मंजूरी मिल गई है। केंद्रीय गृह मंत्रालय से मंजूरी नहीं मिलने के कारण सेवाओं को बंद कर दिया गया था।

सीमा सुरक्षा बल, जो इस सुविधा के लिए एक समन्वय एजेंसी है, ने एयर इंडिया को लिखे एक पत्र में कहा, 16 सितंबर 2021 से एनई (पूर्वोत्तर) और जम्मू-कश्मीर सेक्टर के सभी स्वीकृत मार्गों पर एयर कूरियर सेवा फिर से शुरू करने का अनुरोध किया जाता है।

संचार का शीर्षक सीएपीएफ कर्मियों के लिए एयर कूरियर सेवा को फिर से शुरू करना है।

2019 में पुलवामा आतंकी हमले के बाद हवाई मार्ग से सीएपीएफ कर्मियों की फेरी शुरू की गई थी, जब 14 फरवरी को पाकिस्तान स्थित जैश-ए-मोहम्मद (जेईएम) द्वारा काफिले पर भीषण हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए थे।

2019 में, केंद्रीय गृह मंत्रालय ने जम्मू-कश्मीर में तैनात सीएपीएफ, एआर (असम राइफल्स) के संबंध में विमानन के विस्तार की अनुमति दी थी।

इस सुविधा का लाभ सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ), केंद्रीय रिजर्व पुलिस (सीआरपीएफ), केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (सीआईएसएफ), भारत-तिब्बत सीमा पुलिस (आईटीबीपी), सशस्त्र सीमा बल (एसएसबी) और राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड (एनएसजी) और असम राइफल्स सहित सभी सीएपीएफ कर्मियों को मिलेगा।

--आईएएनएस

आरएचए/एएनएम

Share this story