चिंतन शिविर से होगा कांग्रेस का नया अवतार : दिग्विजय सिंह

चिंतन शिविर से होगा कांग्रेस का नया अवतार : दिग्विजय सिंह
चिंतन शिविर से होगा कांग्रेस का नया अवतार : दिग्विजय सिंह नई दिल्ली, 27 अप्रैल (आईएएनएस)। राजनीतिक रणनीतिकार प्रशांत किशोर के साथ मंगलवार को बातचीत विफल होने के बाद कांग्रेस नेताओं ने उम्मीद जताई है कि चिंतन शिविर पार्टी को पुनर्जीवित करेगा।

कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह, जो विचार-विमर्श का हिस्सा थे, उन्होंने कहा, यह अंतत: कांग्रेस है जिसे आगे बढ़ना है और अपने सदन को ऑर्डर में रखना है। सलाहकार या कोई सलाहकार नहीं। मेरा ²ढ़ विश्वास है कि चिंतन शिविर एक नई कांग्रेस लाएगा जो समय की जरूरत है।

उदयपुर में 13 मई से चिंतन शिविर आयोजित किया जा रहा है, जिसमें देश भर से करीब 400 प्रतिनिधि भाग लेंगे।

पार्टी ने आयोजन का एजेंडा तैयार करने के लिए छह छोटे-छोटे समूहों का गठन किया है।

मंगलवार को कांग्रेस और प्रशांत किशोर के रास्ते अलग हो गए। प्रशांत किशोर ने पार्टी में शामिल होने के प्रस्ताव को ठुकरा दिया।

कांग्रेस के सूत्रों का कहना है कि किशोर व्यापक अधिकार चाहते थे। लेकिन पार्टी की कार्यशैली अलग थी। जिसके चलते सोनिया गांधी ने किशोर को 2024 के चुनावों के लिए एम्पावर्ड एक्शन ग्रुप में शामिल होने के लिए आमंत्रित किया था।

उन्होंने कहा कि राहुल गांधी भी किसी एक व्यक्ति को सत्ता देने के इच्छुक नहीं थे।

मंगलवार को पार्टी में शामिल होने के कांग्रेस के प्रस्ताव को ठुकराने के तुरंत बाद, किशोर ने कहा कि पार्टी को गहरी जड़ें जमाने वाली संरचनात्मक समस्याओं को ठीक करने के लिए नेतृत्व और सामूहिक इच्छाशक्ति की जरूरत है।

किशोर ने ट्वीट किया, मैंने ईएजी के हिस्से के रूप में पार्टी में शामिल होने और चुनावों की जिम्मेदारी लेने के कांग्रेस के उदार प्रस्ताव को अस्वीकार कर दिया।

उन्होंने कहा, मेरी विनम्र राय में, परिवर्तनकारी सुधारों के माध्यम से गहरी जड़ें जमाने वाली संरचनात्मक समस्याओं को ठीक करने के लिए पार्टी को मुझसे ज्यादा नेतृत्व और सामूहिक इच्छाशक्ति की जरूरत है।

--आईएएनएस

पीके/एसकेपी

Share this story