छोटे बच्चों में एंटीबायोटिक्स स्थायी अस्थमा, एलर्जी का कारण बन सकते हैं: अध्ययन

छोटे बच्चों में एंटीबायोटिक्स स्थायी अस्थमा, एलर्जी का कारण बन सकते हैं: अध्ययन
छोटे बच्चों में एंटीबायोटिक्स स्थायी अस्थमा, एलर्जी का कारण बन सकते हैं: अध्ययन न्यूयॉर्क, 31 जुलाई (आईएएनएस)। एंटीबायोटिक दवाओं के जल्दी संपर्क में आने से पाचन तंत्र में स्वस्थ बैक्टीरिया मर जाते हैं और इससे अस्थमा और एलर्जी हो सकती है, यह दावा चूहों पर किए गए एक नए अध्ययन में किया गया है।

म्यूकोसल इम्यूनोलॉजी में प्रकाशित अध्ययन ने अब तक का सबसे मजबूत सबूत प्रदान किया है कि बचपन में एंटीबायोटिक एक्सपोजर और बाद में अस्थमा और एलर्जी के विकास के बीच संबंध है।

अमेरिका में रटगर्स यूनिवर्सिटी में सेंटर फॉर एडवांस बायोटेक्नोलॉजी एंड मेडिसिन के निदेशक मार्टिन ब्लेजर ने कहा, व्यावहारिक निहितार्थ सरल है, जब भी बच सकते हैं छोटे बच्चों में एंटीबायोटिक उपयोग से बचें क्योंकि इससे एलर्जी या अस्थमा के साथ महत्वपूर्ण, दीर्घकालिक समस्याओं का खतरा बढ़ सकता है।

अध्ययन में, रटगर्स, न्यूयॉर्क विश्वविद्यालय और ज्यूरिख विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं ने कहा कि एंटीबायोटिक्स, बच्चों में सबसे अधिक इस्तेमाल की जाने वाली दवाओं में, आंत माइक्रोबायोम समुदायों और चयापचय कार्यों को प्रभावित करते हैं। माइक्रोबायोटा संरचना में ये परिवर्तन मेजबान प्रतिरक्षा को प्रभावित कर सकते हैं।

--आईएएनएस

पीजेएस/आरएचए

Share this story