जबलपुर में दिल की सुधरी धड़कन से बच्चों के खिले चेहरे

जबलपुर में दिल की सुधरी धड़कन से बच्चों के खिले चेहरे
जबलपुर, 26 जनवरी (आईएएनएस)। मध्यप्रदेश में हृदय रोग से पीड़ित बच्चों के लिए मुख्यमंत्री बाल हृदय उपचार योजना वरदान साबित हो रही है। इस जानलेवा बीमारी की जद में आए बच्चों के दिल की धड़कन न केवल सुधरी है बल्कि जिंदगी भी आसान बनी है।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने गुरुवार को जबलपुर में जिला प्रशासन, रेडक्रॉस सोसायटी और स्वास्थ्य विभाग द्वारा मेट्रो प्राइम हॉस्पिटल के सामने कुचैनी परिसर में मुख्यमंत्री बाल हृदय उपचार योजना के लाभार्थी बच्चों से संवाद करते हुए कहा कि हृदय रोग से लड़ कर जीतने वाले बच्चों के चेहरे पर स्वास्थ्य की मुस्कान देख कर अकल्पनीय आनंद का अनुभव हो रहा है।

मुख्यमंत्री चौहान इस दौरान मंच से सीधे उन बच्चों के बीच पहुंच गए, जो मुख्यमंत्री बाल उपचार योजना के माध्यम से स्वस्थ हो चुके हैं। मुख्यमंत्री ने बच्चों से पूछा कि अब सब ठीक है, इलाज अच्छे से हुआ कि नहीं और अब कोई तकलीफ तो नहीं है। बच्चों ने एक स्वर में थैंक्यू मामा जी कहा।

मुख्यमंत्री बाल हृदय उपचार योजना में जबलपुर जिले में वर्ष 2021 से अब तक 199 बच्चों के हृदय का नि:शुल्क उपचार हुआ है। वहीं मेट्रो प्राइम हॉस्पिटल में योजना में जबलपुर संभाग के करीब 550 बच्चों का उपचार किया गया है।

मुख्यमंत्री चौहान ने योजना में बच्चों के इलाज में महती भूमिका निभाने वाले हृदय रोग विशेषज्ञ डॉ. के.एल. उमा महेश्वर, कार्डियोलोजिस्ट डॉक्टर सुदीप चौधरी, नि:चेतना विशेषज्ञ डॉ सुनील जैन एवं डॉ राजीव बड़ेरिया को सम्मानित किया।

--आईएएनएस

एसएनपी/एसकेपी

Share this story