जमशेदपुर वीमेंस कॉलेज में हिजाब पहनकर परीक्षा देने से मना किया तो खड़ा हुआ विवाद

जमशेदपुर वीमेंस कॉलेज में हिजाब पहनकर परीक्षा देने से मना किया तो खड़ा हुआ विवाद
जमशेदपुर वीमेंस कॉलेज में हिजाब पहनकर परीक्षा देने से मना किया तो खड़ा हुआ विवाद जमशेदपुर, 20 जून (आईएएनएस)। हिजाब को लेकर अब जमशेदपुर में भी विवाद खड़ा हो गया है। यहां वीमेंस कॉलेज स्थित परीक्षा केंद्र पर कुछ छात्राएं हिजाब पहनकर परीक्षा देने पहुंची थीं। कॉलेज की शिक्षिकाओं ने उनसे हिजाब उतारने को कहा तो इसपर लगभग घंटे भर हंगामा होता रहा। अब इस मुद्दे को लेकर ऑल इंडिया माइनॉरिटी सोशल वेलफेयर फ्रंट (एआईएमएसडब्ल्यूएफ) ने विरोध दर्ज कराया है। फ्रंट के एक प्रतिनिधिमंडल ने सोमवार को जमशेदपुर के उपायुक्त के नाम एक ज्ञापन सौंपकर इस मुद्दे पर कार्रवाई की मांग की गयी है। फ्रंट के अध्यक्ष बाबर खान ने कहा है कि उपायुक्त ने उन्हें आश्वस्त किया है कि इस मामले की जांच की जायेगी।

मामला बीते 18 जून का है। झारखंड एकेडमिक काउंसिल (जैक बोर्ड) की ओर से आयोजित 12वीं की परीक्षा को लेकर जमशेदपुर के बिष्टुपुर स्थित वीमेंस कॉलेज में परीक्षा केंद्र बनाया गया है। जमशेदपुर के करीम सिटी कॉलेज की कुछ मुस्लिम परीक्षार्थी यहां चेहरे पर हिजाब पहनकर परीक्षा देने पहुंचीं थी। केंद्र पर तैनात शिक्षिकाओं ने उनसे हिजाब उतारने को कहा। इसे लेकर काफी देर तक विवाद हुआ। छात्राओं का कहना है कि उन्हें लगभग आधे घंटे तक परीक्षा देने से रोका गया। कॉलेज प्रशासन की ओर से उन्हें चेतावनी दी गयी कि अगले दिन से हिजाब उतारकर परीक्षा केंद्र आयें। यह परीक्षा के नियमों के विरुद्ध है। हिजाब पहनकर परीक्षा देने पर अड़ी फरहीन यासमीन नामक छात्रा ने इस बाबत माइनॉरिटी संगठनों के पास शिकायत की।

सोमवार को भी इस मुद्दे पर विवाद की आशंका जतायी जा रही थी, लेकिन भारत बंद के चलते परीक्षाएं स्थगित रहीं। ऑल इंडिया माइनॉरिटी सोशल वेलफेयर फ्रंट के अध्यक्ष बाबर खान ने कहा कि झारखंड में कर्नाटक जैसा विवाद खड़ा करने की कोशिश हो रही है। हिजाब मुस्लिम महिलाओं का अधिकार है और इसपर रोक लगाने की कोशिश नाजायज है। हमारे संगठन ने इसपर जिला प्रशासन से तत्काल कार्रवाई करने की मांग की है। कार्रवाई न होने की सूरत में आंदोलन का रास्ता अपनाया जायेगा।

--आईएएनएस

एसएनसी/एएनएम

Share this story