जहरीली हवा से निजात दिलाने के लिए पर्यावरण मंत्री के ऐलान पर बीजेपी, कांग्रेस का हमला

जहरीली हवा से निजात दिलाने के लिए पर्यावरण मंत्री के ऐलान पर बीजेपी, कांग्रेस का हमला
जहरीली हवा से निजात दिलाने के लिए पर्यावरण मंत्री के ऐलान पर बीजेपी, कांग्रेस का हमला नई दिल्ली, 24 नवंबर (आईएएनएस)। दिल्ली में प्रदूषण स्तर में सुधार पाने और लोगों को जहरीला हवा से निजात दिलाने के लिए पर्यवारण मंत्री गोपाल राय ने स्कूल खोलने और ट्रकों के दिल्ली में प्रवेश को लेकर गाइडलाइंस जारी की जिसपर कांग्रेस और बीजेपी पार्टी ने निशाना साधा है।

दरअसल पर्यवारण मंत्री गोपाल राय ने बुधवार को कहा कि, दिल्ली के अंदर स्कूल-कॉलेज 29 नवंबर सोमवार से खोल दिए जाएंगे। वहीं सीएनजी और इलेक्ट्रिक ट्रक को 27 नवंबर से प्रवेश दिया जाएगा। अन्य ट्रक के प्रवेश पर 3 दिसंबर तक प्रतिबंध रहेगा।

इसके अलावा सरकारी दफ्तरों को 29 नवंबर से खोल दिया जाएगा।

इसपर बीजेपी प्रदेश उपाध्यक्ष वीरेंद्र सचदेवा ने आईएएनएस से कहा कि, यह सुर्खियों में रहने का एक तरीका है, बस प्रचार के लिए यह सब किया जा रहा है इन कदमों से प्रदूषण पर कोई फर्क नहीं पड़ने वाला है।

पिछले एक सालों में उन्होंने कितनी इलेक्ट्रिक गाड़ियों का रजिस्ट्रेशन किया है ? दिल्ली में सुविधा के नाम पर इन्होंने केवल प्रचार किया है। कोई अभी तक इलेक्ट्रिक बस इन्होंने चलाई नहीं हैं।

पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने मीडिया को संबोधन के दौरान इस बात का भी जिक्र किया कि, दिल्ली के अंदर पिछले 3 दिनों से लगातार प्रदूषण के स्तर में सुधार हो रहा है। वहीं दिल्ली के उच्च अधिकारियों के साथ आज समीक्षा बैठक में प्रमुख निर्णय लिए गए हैं।

दूसरी ओर कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अनिल चौधरी ने आईएएनएस को बताया कि, यह सरकार प्रदूषण के नाम पर दिल्ली को बचा नहीं पाई, इनकी सारी योजनाएं धराशाई हो गई हैं। अब अपनी नाकामयाबियों का ठीकरा किसी न किसी के सर पर फोड़ना चाहते हैं। इन्होंने पहले कोई अच्छे कदम नहीं उठाए यदि उठाए होते तो दिल्ली गैस चैंबर बनने से बच जाती।

दिल्ली कांग्रेस प्रवक्ता परवेज आलम ने आईएएनएस को बताया कि, यह सरकार सिर्फ कुछ नजर आने के लिए यह फैसले ले रही है। ईस्टर्न और वेस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेस वे से पहले से ही ट्रक डायवर्टेड हैं उससे प्रदूषण में क्या फर्क आएगा? सिर्फ दिखावे के लिए यह फैसले लिए गए हैं।

प्रदूषण दिल्ली के अंदर है और यह ऐसी बात कह रहे हैं जिनका योगदान न के बराबर है।

दरअसल आज हुई बैठक में निर्णय लिया गया है कि 27 नवंबर से ट्रक जो सीएनजी और इलेक्ट्रिक से चलता हो, सिर्फ उन्ही को प्रवेश दिया जाएगा, बाकी ट्रक के प्रवेश पर 3 दिसंबर तक बैन रहेगा। इसके अलावा आवश्यक सेवाओं की गाड़ियों को भी प्रवेश मिलेगा।

दूसरी ओर दिल्ली के अंदर स्कूल, कॉलेज, इंस्टिट्यूट और लाइब्रेरी 29 नवंबर सोमवार से खोल दिए जाएंगे। इसके अलावा सरकारी विभागों में वर्क फ्रॉम होम था और सरकारी दफ्तर बंद थे। अब उनको 29 नवंबर से खोल दिया जाएगा। इसके लिए सभी सरकारी कर्मचारियों को एडवाइजरी है कि वह ज्यादा से ज्यादा पब्लिक ट्रांसपोर्ट का उपयोग करें।

पर्यवारण मंत्री के अनुसार, सरकार ने अभी सीएनजी की निजी बसें हायर की हैं।

--आईएएनएस

एमएसके/एएनएम

Share this story