जाति के बल पर पार्टी बनाने और फिर उसे बेच देने वालों से सावधान रहें : संजय जायसवाल

जाति के बल पर पार्टी बनाने और फिर उसे बेच देने वालों से सावधान रहें : संजय जायसवाल
जाति के बल पर पार्टी बनाने और फिर उसे बेच देने वालों से सावधान रहें : संजय जायसवाल पटना, 14 जनवरी (आईएएनएस)। उत्तर प्रदेश चुनाव की घोषणा के बाद भाजपा छोड़ कर जाने वाले नेताओं पर शुक्रवार को बिहार भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ. संजय जायसवाल ने जबरदस्त निशाना साधा है।

उन्होंने कहा कि चुनाव में फैसला सदैव जनता करती है और जनता मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और भाजपा के साथ है। लेकिन भविष्य में हमें भी ऐसे लोगों से सावधान रहने की जरूरत है जो अपनी जाति के बल पर पार्टी बनाते हैं और फिर थोड़े लाभ के लिए अपनी जाति और पार्टी दोनों को बेच देते हैं।

डॉ. जायसवाल अपने फेसबुक वॉल पर पोस्ट करते हुए लिखा, ना खाऊंगा ना खाने दूंगा के अपने कुछ राजनैतिक नुकसान भी हैं। कल तक जो सरकार में मंत्री बने बैठे थे उन्हें यह लग रहा है कि चुनाव के समय एक ऐसे दल में चले जाएं जो स्वयं भी खाता हो और साथियों को भी खिलाता हो।

उन्होंने लिखा कि ज्यादातर ऐसे साथी 2017 में दल में आए थे और अब 5 वर्ष मंत्री रहने के बाद उन्हें चुनाव घोषणा के साथ ही बहुत सारी दिक्कतें होने लगी हैं। डॉ जायसवाल ने लिखा कि भाजपा का सिद्धांत नेताओं के लिए नहीं बल्कि जनता के लिए उत्कृष्ट साबित हुआ है। आज केंद्र सरकार ने डीबीटी के माध्यम से 20 लाख करोड़ रुपए जनता के खातों में सीधे दिया है पर कहीं भी भ्रष्टाचार नहीं हो सका।

उन्होंने कहा कि अवसरवादी नेताओं को निशाने पर लेते हुए कहा कि चुनाव में फैसला सदैव जनता करती है और जनता योगी आदितयनाथ और भाजपा के साथ है। लेकिन भविष्य में हमें भी ऐसे लोगों से सावधान रहने की जरूरत है जो अपनी जाति के बल पर पार्टी बनाते हैं और फिर थोड़े लाभ के लिए अपनी जाति और पार्टी दोनों को बेच देते हैं।

उन्होंने कहा कि ऐसे व्यक्तियों के लिए सत्ता अपना आधार बढ़ाने का माध्यम होता है, जिससे हर चुनाव में किसी नए दल मे खुद को और अपने समर्थकों को बेच सकें।

--आईएएनएस

एमएनपी/एएनएम

Share this story