तमिलनाडु : हिंसक जंगली हाथी दूसरे दिन भी विशेष टीमों की गिरफ्त में नहीं आ पाया

तमिलनाडु : हिंसक जंगली हाथी दूसरे दिन भी विशेष टीमों की गिरफ्त में नहीं आ पाया
तमिलनाडु : हिंसक जंगली हाथी दूसरे दिन भी विशेष टीमों की गिरफ्त में नहीं आ पाया चेन्नई, 23 नवंबर (आईएएनएस)। एक जंगली हाथी पंडालुर मखाना 2 (पीएम2), जिसने नीलगिरि जिले के देवाला में एक घर को गिरा दिया, एक महिला की हत्या कर दी और दो अन्य को घायल कर दिया, अभी भी तमिलनाडु वन विभाग की विशेष टीमों की गिरफ्त में नहीं आ पाया है।

वन विभाग के सूत्रों ने आईएएनएस को बताया कि चार विशेष टीमें मंगलवार सुबह से उस हाथी की तलाश कर रही हैं। वन विभाग के अधिकारियों की एक उच्चस्तरीय बैठक के बाद टीमों का गठन किया गया था, जिसमें पीएम2 को पकड़ने और इसे मुदुमलाई टाइगर रिजर्व में स्थानांतरित करने का निर्णय लिया गया था।

वन अधिकारियों ने आईएएनएस को बताया कि हो सकता है कि हाथी गुदलूर में हाथी मार्ग से केरल की सीमा पार कर गया हो और जंगली हाथियों के झुंड के साथ मिल गया हो।

वन अधिकारियों ने मंगलवार को नाडुगनी के जीन पूल में एक बैठक की, जिसमें गुडलूर, पंडालुर और नाडुंगनी रेंज के अधिकारी मौजूद थे। बैठक में बुधवार से तलाशी अभियान चलाने के लिए वन अधिकारियों की एक और टीम गठित करने का निर्णय लिया गया।

हाथी ने पिछले दो वर्षो में देवला और पंडालुर क्षेत्रों में कई घरों को तहस-नहस कर दिया था और स्थानीय लोगों के लिए संकट बना हुआ है।

पीएम2 का पता लगाने और उसे पकड़ने के लिए वन अधिकारियों ने दो कुमकी हाथियों को भी तैनात किया है, लेकिन यह मायावी बना हुआ है।

गुडलूर में एक वरिष्ठ वन अधिकारी ने आईएएनएस को बताया, वह हाथी शायद केरल में सीमा में जाकर हाथियोंके झुंड में जा मिला है। हम उम्मीद कर रहे हैं कि वह बुधवार या गुरुवार को गुडलूर रेंज में वापस आ जाएगा। तब हम उसे पकड़ सकेंगे।

--आईएएनएस

एसजीके/एएनएम

Share this story