तेज प्रताप के खिलाफ एक शख्स ने लगाया मानसिक प्रताड़ना देने का आरोप

तेज प्रताप के खिलाफ एक शख्स ने लगाया मानसिक प्रताड़ना देने का आरोप
तेज प्रताप के खिलाफ एक शख्स ने लगाया मानसिक प्रताड़ना देने का आरोप पटना, 11 अक्टूबर (आईएएनएस)। अपने छोटे भाई तेजस्वी यादव सेम मतभेद की खबरों के बीच तेज प्रताप यादव को सोमवार को उस वक्त एक और झटका लगा जब उनके नवगठित राजनीतिक संगठन छात्र जनशक्ति परिषद (सीजेपी) के प्रभारी सुमंत राव उर्फ बबलू सम्राट ने तेज प्रताप पर मानसिक प्रताड़ना देने का आरोप लगाते हुए आत्महत्या करने की धमकी दी है।

रविवार रात लालू प्रसाद के बड़े बेटे सचिवालय थाने पहुंचे और एसएचओ को अर्जी दी। तेजप्रताप यादव ने अपनी अर्जी में कहा कि अगर राव को कुछ हुआ तो उसके लिए वह जिम्मेदार नहीं होंगे।

राव ने सीजेपी के गठन में अहम भूमिका निभाई थी। इसके अलावा, उन्होंने एक कार्यक्रम भी आयोजित किया था जिसमें तेज प्रताप ने अपने छोटे भाई तेजस्वी यादव को लालू प्रसाद को दिल्ली में नजरबंद रखने के लिए दोषी ठहराया था।

एसएचओ ने राव से संपर्क किया तो उन्होंने तेज प्रताप यादव पर मानसिक प्रताड़ना देने का आरोप लगाया।

राव ने आरोप लगाया कि उन्होंने एक उद्देश्य हासिल करने के लिए सीजेपी का गठन किया है, लेकिन तेज प्रताप ने अपने उद्देश्य को एक तरफ रख दिया है और अपने निहित स्वार्थ के लिए अपना एजेंडा लागू किया है।

राव ने कहा कि मैंने अपना इस्तीफा व्हाट्सएप पर भेजा है, लेकिन उन्होंने इसे स्वीकार नहीं किया और मुझे एक टर्मिनेशन लेटर जारी किया है। मैंने उनसे कुछ सवाल किए थे,जिसके बाद उन्होंने मुझे मानसिक रूप से प्रताड़ित किया है। अगर कोई सवाल पूछना अपराध है, तो पुलिस कार्रवाई करने के लिए स्वतंत्र है।

सीजेपी का गठन 5 सितंबर, 2021 को तेज प्रताप और तेजस्वी यादव के बीच मुंगेर जिले के तारापुर विधानसभा उपचुनाव से एक निर्दलीय उम्मीदवार संजय यादव को मैदान में उतारने के बाद हुआ था। तेज प्रताप ने कहा, चुनाव आयोग से सीजेपी को कोई मान्यता नहीं मिलने के कारण उसके उम्मीदवार ने निर्दलीय उम्मीदवार के तौर पर नामांकन दाखिल किया है।

नामांकन दाखिल करने के बाद संजय यादव ने तेजस्वी यादव से मुलाकात की और अपना नामांकन वापस ले लिया था।

--आईएएनएस

एमएसबी/आरजेएस

Share this story