दिल्ली में छठ पूजा को लेकर आप, भाजपा में शुरू हुआ सियासी युद्ध

दिल्ली में छठ पूजा को लेकर आप, भाजपा में शुरू हुआ सियासी युद्ध
दिल्ली में छठ पूजा को लेकर आप, भाजपा में शुरू हुआ सियासी युद्ध नई दिल्ली, 13 अक्टूबर (आईएएनएस)। दिल्ली में छठ पूजा बैन को लेकर दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया द्वारा केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री को लिखे पत्र पर प्रतिक्रिया देते हुए भाजपा सांसद मनोज तिवारी ने बुधवार को कहा कि यदि दिल्ली सरकार राष्ट्रीय राजधानी में उत्सव की अनुमति देने की इच्छुक होती, तो वह केंद्र से डीडीएमए आदेश पारित होने से पहले दिशानिर्देश जारी करने के लिए जरूर कहती।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को 13 अक्टूबर को लिखे एक पत्र में तिवारी ने तुिष्टकरण के लिए आम आदमी पार्टी (आप) को जिम्मेदार ठहराया है।

उन्होंने लिखा कि छठ पूजा सिर्फ पूर्वांचल समुदाय का त्योहार नहीं है, बल्कि भारत की संस्कृति, परंपरा और इतिहास का भी अभिन्न अंग है।

मंगलवार को आप नेता मनीष सिसोदिया ने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया को लिखे एक पत्र में केंद्र से स्वास्थ्य विशेषज्ञों और हितधारकों से परामर्श करने के बाद उचित कोविड -19 दिशानिर्देश जारी करने को कहा है, ताकि दिल्ली के लोग सुरक्षित रूप से त्योहार मना सकें।

दिल्ली भाजपा ने मंगलवार को दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के आधिकारिक आवास के सामने प्रदर्शन किया था।

इससे पहले, तिवारी ने कहा था कि वह बिहार, झारखंड और उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड के कुछ हिस्सों में सबसे लोकप्रिय त्योहार मनाने के डीडीएमए के आदेशों की अवहेलना करेंगे।

इस बीच, आप ने दिल्ली भाजपा द्वारा छठ पूजा पर हाल ही में हुई प्रेस मीट में निंदा करते हुए कहा, लोगों का स्वास्थ्य और जीवन हमारे लिए सबसे महत्वपूर्ण है। हमें दुख है कि भाजपा इस पर गंदी राजनीति कर रही है। भाजपा को लोगों की जीवन की कोई चिंता नहीं है।

--आईएएनएस

एचके/आरजेएस

Share this story