नकली नोटों की सप्लाई करने वाला आरोपी दिल्ली में गिरफ्तार

नकली नोटों की सप्लाई करने वाला आरोपी दिल्ली में गिरफ्तार
नकली नोटों की सप्लाई करने वाला आरोपी दिल्ली में गिरफ्तार नई दिल्ली, 9 जनवरी (आईएएनएस)। दिल्ली पुलिस के विशेष प्रकोष्ठ ने नकली भारतीय मुद्रा नोट के प्रचलन में शामिल एक अंतरराष्ट्रीय सिंडिकेट का भंडाफोड़ किया है। राष्ट्रीय राजधानी में इसके प्रमुख आपूर्तिकर्ता को गिरफ्तार किया है। एक अधिकारी ने रविवार को कहा कि आरोपी की पहचान बिहार के मोतिहारी निवासी रायसुल आजम के रूप में हुई है।

पुलिस उपायुक्त (विशेष प्रकोष्ठ) जसमीत सिंह ने अभियान की जानकारी देते हुए बताया कि अक्टूबर 2021 के अंतिम सप्ताह में भारत-नेपाल सीमा से मोतिहारी (बिहार) जिले के रक्सौल होते हुए भारत में एफआईसीएन के प्रसार के संबंध में सूचना प्राप्त हुई थी।

उक्त जानकारी को और विकसित किया गया और पुलिस टीम को इस एफआईसीएन सिंडिकेट के एक प्रमुख आपूर्तिकर्ता के बारे में दो महीने बाद सूचना मिली, जो दिल्ली-एनसीआर, उत्तर प्रदेश, पश्चिम बंगाल, बिहार और अन्य भागों में एफआईसीएन की आपूर्ति में सक्रिय रूप से शामिल था।

आरोपी आजम को रिंग रोड के सराय काले खां बस टर्मिनल के पास इंद्रप्रस्थ पार्क के पास पकड़ा गया, जब वह नकली भारतीय नोटों की खेप देने के लिए वहां गया था।

डीसीपी ने कहा कि उसके पास से 500 के नोटों की 2.98 लाख रुपये की करेंसी बरामद की गई। उसके खिलाफ स्पेशल सेल पुलिस स्टेशन में कानून की उपयुक्त धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया।

पूछताछ के दौरान, आरोपी आजम ने खुलासा किया कि उसने नेपाल के एक नागरिक सुरेश से 3 लाख रुपये की नकली नोट की खेप खरीदी थी और वह आगे की आपूर्ति के लिए दिल्ली आया था। उसने आगे खुलासा किया कि पिछले 14-15 वर्षों से देश के कुछ हिस्सों में सक्रिय रूप से एफआईसीएन प्रचलन में है।

एक चौंकाने वाला खुलासा करते हुए आरोपी ने कहा कि वह विमुद्रीकरण के बाद पिछले लगभग चार वर्षों के दौरान दिल्ली में 1 करोड़ रुपये से अधिक की नकली मुद्रा की आपूर्ति कर चुका है।

पुलिस मामले की आगे की जांच कर रही है।

--आईएएनएस

एमएसबी/आरजेएस

Share this story