निजी टीवी चैनल को फायदा पहुंचाने के लिए पाक के राष्ट्रीय खजाने को अरबों का चूना लगाया

निजी टीवी चैनल को फायदा पहुंचाने के लिए पाक के राष्ट्रीय खजाने को अरबों का चूना लगाया
निजी टीवी चैनल को फायदा पहुंचाने के लिए पाक के राष्ट्रीय खजाने को अरबों का चूना लगाया नई दिल्ली, 10 जनवरी (आईएएनएस)। पाकिस्तान टेलीविजन (पीटीवी) और निजी एआरवाई चैनल के बीच विवादास्पद और कथित अवैध साझेदारी की अंदरूनी कहानी सामने आई है। द न्यूज इंटरनेशनल ने इसकी जानकारी दी है।

जियो न्यूज द्वारा प्राप्त विवरण से पता चलता है कि निजी समाचार चैनल को लाभ पहुंचाने के लिए पाकिस्तान के राष्ट्रीय खजाने को अरबों रुपये का चूना लगाया गया। जिसका कोई स्पोर्टस चैनल नहीं था, उसके बावजूद इसे आईसीसी प्रसारण अधिकारों में पार्टनर बनाया गया था।

पूरा खेल अगस्त 2021 में शुरू हुआ, जब पीटीवी ने आईसीसी प्रसारण अधिकारों में साझेदारी के लिए एक टेंडर जारी किया, जिसमें पाकिस्तान सुपर लीग (पीएसएल) का उल्लेख नहीं था।

यह ध्यान देने योग्य है कि एआरवाई कंसोर्टियम आईसीसी प्रसारण में शामिल था जब उसके खेल चैनल ए स्पोर्ट्स का कोई अस्तित्व नहीं था और कोई लाइसेंस नहीं था।

पीटीवी के निदेशक मंडल भी इस मुद्दे से अनजान रहे।

रिपोर्ट में कहा गया है कि अगस्त 2021 के आईसीसी प्रसारण अधिकार निविदा में पीएसएल का उल्लेख नहीं किया गया था और पीटीवी स्पोर्ट्स ने पीटीवी के निदेशक मंडल को अंधेरे में रखा, टेन स्पोर्ट्स के साथ साझेदारी के लिए इसकी मंजूरी प्राप्त की, लेकिन फिर चुपचाप ए स्पोर्ट्स के साथ भागीदारी की।

अगस्त 2021 के एक्सप्रेशन ऑफ इंट्रस्ट के तहत, एआरवाई के पक्ष में प्रयास किया गया था क्योंकि पीटीवी अनुबंध ग्रुप एम और एआरवाई के संघ के साथ था।

लेकिन पीएसएल के लिए पार्टी बदल दी गई और एआरवाई के साथ ही एक कंसोर्टियम बना दिया गया।

रिपोर्ट में कहा गया है कि पीटीवी, जो जनता के पैसे पर चलता है, उसने अभी तक अगस्त 2021 के समझौते का विवरण नहीं दिया है, जिसमें पाकिस्तान के राज्य के स्वामित्व वाले चैनल और राष्ट्रीय खजाने पर अरबों रुपये खर्च हुए हैं।

--आईएएनएस

एसकेके/आरजेएस

Share this story