पटना पुलिस ने एसएचओ द्वारा महिला से बदसलूकी मामले की जांच शुरू की

पटना पुलिस ने एसएचओ द्वारा महिला से बदसलूकी मामले की जांच शुरू की
पटना पुलिस ने एसएचओ द्वारा महिला से बदसलूकी मामले की जांच शुरू की पटना, 12 जनवरी (आईएएनएस)। पटना में सचिवालय थाने के एसएचओ द्वारा एक महिला कर्मचारी को कथित तौर पर अपमानित किए जाने के एक दिन बाद, एसएसपी मानवजीत सिंह ढिल्लों ने मंगलवार को घटना की जांच के लिए एएसपी काम्या मिश्रा की अध्यक्षता में एक समिति का गठन किया है।

घटना का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है जिसमें एसएचओ सी.पी. गुप्ता को महिला को सलाखों के पीछे डालने की धमकी देते देखा जा सकता है।

शिकायतकर्ता, सचिवालय की एक कर्मचारी, सोमवार शाम को सचिवालय थाने में अज्ञात व्यक्तियों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने गई थी, जिन्होंने उसके कार्यालय के गेट के पास से उसका मोबाइल फोन छीन लिया था।

शिकायतकर्ता कंचन कुमारी ने कहा कि मैं अपने कार्यालय के गेट के पास खड़ी थी, जब कुछ बाइक सवारों ने मेरा मोबाइल फोन छीन लिया। मेरे सहयोगियों ने मुझे संबंधित पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज करने का सुझाव दिया। हम वहां गए और एसएचओ के समक्ष एक लिखित शिकायत की। जब मैंने अपनी शिकायत के लिए रसीद मांगी, तो एसएचओ अचानक मुझसे और मेरे दोस्तों से नाराज हो गए।

उन्होंने न केवल मुझे एक रसीद देने से इनकार किया, बल्कि यह भी धमकी दी कि वह मुझे लॉक-अप में डाल देंगे। सौभाग्य से, मेरे दोस्तों ने पूरी घटना का वीडियो बनाया। उनका व्यवहार न केवल अशिष्ट था, बल्कि अपमानजनक भी था। मैं पीड़ित थी लेकिन एसएचओ ने मेरे साथ एक आरोपी की तरह व्यवहार किया, जो पूरी तरह से अस्वीकार्य है।

उनकी दोस्त प्रीति कुमारी, जो सचिवालय में एक कर्मचारी भी हैं, उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार बिहार में महिला सशक्तिकरण के बारे में बात करते हैं। लेकिन अगर पुलिस हमें इस तरह धमकी देती है तो हम सशक्त कैसे हो सकते हैं? मुख्यमंत्री को मानसिक आघात को समझना चाहिए। हम पुलिस थाने में गए। अगर हम जैसे सरकारी कर्मचारी राज्य में सुरक्षित नहीं हैं, तो हम कैसे उम्मीद कर सकते हैं कि आम लोग यहां सुरक्षित महसूस करेंगे?

पटना के एसएसपी मानवजीत सिंह ढिल्लों ने कहा कि हमने मामले की जांच के लिए एएसपी रैंक के एक अधिकारी के नेतृत्व में एक टीम का गठन किया है। रिपोर्ट के निष्कर्षों के आधार पर हम कथित अधिकारी के खिलाफ कार्रवाई करेंगे।

--आईएएनएस

एमएसबी/एसकेके

Share this story