पश्चिम बंगाल में लोकतंत्र की हत्या करने वाली टीएमसी त्रिपुरा में अशांति फैलाना चाहती है - लॉकेट चटर्जी

पश्चिम बंगाल में लोकतंत्र की हत्या करने वाली टीएमसी त्रिपुरा में अशांति फैलाना चाहती है - लॉकेट चटर्जी
पश्चिम बंगाल में लोकतंत्र की हत्या करने वाली टीएमसी त्रिपुरा में अशांति फैलाना चाहती है - लॉकेट चटर्जी नई दिल्ली, 22 नवंबर (आईएएनएस)। गृह मंत्रालय पर तृणमूल कांग्रेस सांसदों के धरने की आलोचना करते हुए पश्चिम बंगाल से भाजपा की लोकसभा सांसद लॉकेट चटर्जी ने कहा कि पश्चिम बंगाल में लोकतंत्र की हत्या करने वाली टीएमसी त्रिपुरा में लोकतंत्र की बात कर रही है।

आईएएनएस से बातचीत करते हुए पश्चिम बंगाल भाजपा की वरिष्ठ नेता और पश्चिम बंगाल के हुगली से लोकसभा सांसद लॉकेट चटर्जी ने ममता सरकार पर पश्चिम बंगाल में लोकतंत्र की हत्या करने और चुनाव के बाद जमकर हिंसा करने का आरोप लगाते हुए कहा कि टीएमसी पश्चिम बंगाल में जमकर चुनाव के बाद हिंसा कर रही है, जिसमें भाजपा के 60 से ज्यादा कार्यकर्ता मारे गए और अब ये गुंडों को त्रिपुरा ले जाकर राज्य में अशांति फैलाना चाहती है।

आईएएनएस से बातचीत के दौरान टीएमसी नेताओं की आलोचना करते हुए भाजपा सांसद ने कहा कि त्रिपुरा एक शांत प्रदेश है जहां टीएमसी का कोई जनाधार नहीं है, इसलिए वो वहां जाकर अशांति फैलाने की कोशिश कर रहे हैं। टीएमसी नेता की गिरफ्तारी पर जवाब देते हुए लॉकेट चटर्जी ने कहा कि इनके नेता त्रिपुरा में जाकर अशांति फैला रहे हैं, मुख्यमंत्री के खिलाफ अपशब्दों का इस्तेमाल कर रहे हैं, उकसाने का षड्यंत्र रच रहे हैं तो कानून के मुताबिक कार्यवाही तो होगी ही।

टीएमसी नेता अभिषेक बनर्जी के त्रिपुरा में हेलीकॉप्टर नही उतरने देने के आरोप पर भाजपा लोकसभा सांसद ने कहा कि क्यों उतरने दे, उन्होंने तो भी पश्चिम बंगाल में अमित शाह और योगी आदित्यनाथ के हेलीकॉप्टर को नहीं उतरने दिया था। भाजपा सांसद ने अभिषेक बनर्जी पर आरोप लगाते हुए कहा कि वो पश्चिम बंगाल से गुंडों को त्रिपुरा ले जाकर अशांति फैलाना चाहते हैं। इसलिए उन्हें उतरने नहीं देने का फैसला कर राज्य सरकार ने बिल्कुल सही कदम उठाया है।

आपको बता दें कि टीएमसी यूथ विंग की नेता सयानी घोष की त्रिपुरा में गिरफ्तारी के विरोध में तृणमूल कांग्रेस सांसद नई दिल्ली में गृह मंत्रालय के बाहर धरना दे रहे हैं। टीएमसी त्रिपुरा सरकार के रवैये के खिलाफ गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात कर शिकायत करना चाहती है।

--आईएएनएस

एसटीपी/एएनएम

Share this story