पार्थ को पार्टी से निकालने को लेकर चिंतित हैं तृणमूल कार्यकर्ता : बीजेपी

पार्थ को पार्टी से निकालने को लेकर चिंतित हैं तृणमूल कार्यकर्ता : बीजेपी
पार्थ को पार्टी से निकालने को लेकर चिंतित हैं तृणमूल कार्यकर्ता : बीजेपी नई दिल्ली, 31 जुलाई (आईएएनएस)। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी द्वारा पार्थ चटर्जी को पार्टी से निकालने के बाद से घोटालों और अन्य अवैध गतिविधियों में शामिल तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ता चिंतित हैं।

पश्चिम बंगाल भाजपा के सह-प्रभारी अमित मालवीय ने ट्वीट किया, ममता बनर्जी द्वारा पार्थ को निकालने के बाद, उनके करीबी विश्वासपात्र, तृणमूल में मंत्री से लेकर आम कार्यकर्ता तक, हर अपराधी, (जो घोटालों, दुष्कर्मो और हत्याओं में शामिल हैं) चिंतित हैं। उन्होंने इस आश्वासन पर काम किया कि ममता उनकी रक्षा करेंगी, लेकिन अब वे खुद को ठगा हुआ महसूस कर रहे हैं। कानून सर्वोच्च है।

ईडी ने एसएससी घोटाले में चटर्जी को गिरफ्तार किया है और उनकी करीबी अर्पिता मुखर्जी से करीब 50 करोड़ रुपये, कई किलोग्राम सोना और कई संपत्तियों के दस्तावेज बरामद किए हैं।

गुरुवार को चटर्जी को राज्य मंत्रिमंडल और पार्टी से हटा दिया गया था।

इससे पहले मालवीय ने कहा था कि पश्चिम बंगाल के शिक्षा राज्य मंत्री परेश अधिकारी के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज होने के बाद उन्हें बर्खास्त क्यों नहीं किया गया। उन्होंने कहा, एसएससी घोटाले की जड़ इतनी गहरी है कि कलकत्ता उच्च न्यायालय को परेश अधिकारी की बेटी अंकिता अधिकारी की अवैध नियुक्ति रद्द करनी पड़ी। उन्हें बर्खास्त क्यों नहीं किया गया? क्या ममता बनर्जी इसका स्पष्टीकरण देंगी।

मालवीय ने आगे कहा कि, साफ है कि ममता बनर्जी को हिट का अहसास हो रहा है। बरामद नगदी की राशि ने तृणमूल सरकार के काले खेल को उजागर कर दिया है। पार्थ चटर्जी से छुटकारा पाना इस बात की स्वीकारोक्ति है कि फंदा कस रहा है।

--आईएएनएस

एचके/आरएचए

Share this story