प्रदेश भर के युवाओं को स्मार्ट बनाएगी राज्य सरकार : योगी

प्रदेश भर के युवाओं को स्मार्ट बनाएगी राज्य सरकार : योगी
प्रदेश भर के युवाओं को स्मार्ट बनाएगी राज्य सरकार : योगी लखनऊ, 28 अप्रैल(आईएएनएस)। यूपी के मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि प्रदेश का हर युवा स्मार्ट होगा। उसकी जेब और हाथ में टैबलेट और स्मार्ट फोन होगा।

गुरुवार को डॉ शकुंतला मिश्रा राष्ट्रीय पुनर्वास विश्वविद्यालय लखनऊ में दिव्यांगजन सशक्तीकरण विभाग की ओर से आयोजित शिलान्यास एवं टैबलेट वितरण कार्यक्रम में कही। कार्यक्रम में 868 दिव्यांग बच्चों को टैबलेट और स्मार्ट फोन भी वितरित किये गये।

योगी ने विश्वविद्यालय में बनने वाले अभियांत्रिकी एवं प्रोद्योगिकी संकाय भवन का शिलान्यास किया। चंदौली में 01 हजार 169 लाख रुपये ममता मानसिक मंदित विद्यालय का शिलान्यास भी किया। इसके साथ ही चित्रकूट में 1396.04 लाख रुपय की लागत से बनने वाले संकेत जूनियर स्कूल का शिलान्यास भी किया।

योगी ने कहा कि कोरोना महामारी, रूस-युक्रेन का युद्ध, चीन समेत कई देशों में कोरोना कारणों से टैबलेट की मैनुफैक्च रिंग नहीं हो पा रही। इसमें एक चिप लगती है। चिप का निर्माण नहीं हो पा रहा है। इसलिए हम इसे हम फेस वाइस वितरित कर रहे हैं। उन्होंने सभी बच्चों को आश्वस्त किया कि प्रदेश भर के युवाओं को हम स्मार्ट युवा बनाएंगे। उनको कहा कि स्मार्ट फोन और टैबलेट देने का काम राज्य सरकार करेगी।

सीएम योगी ने यहां कहा कि इस उत्तर प्रदेश मे पांच साल पहले दंगे होते थे अराजकता फैलती थी। आज सर्वत्र शांति और सौहार्द है। हर तबका विकास से जुड़कर आगे बढ़ रहा है। शिक्षण संस्थाओं को स्वस्थ प्रतिस्पर्धा से जुड़ने के लिए अपने आप को तैयार करना होगा। हमें भी अच्छे विश्वविद्यालय देने होंगे। अच्छे चिकित्सा संस्थान देने होंगे। अच्छे तकनीकी संस्थान देने होंगे। उत्तर प्रदेश में जो होगा वल्र्ड क्लास होगा इस संकल्प के साथ हमको आगे बढ़ना है।

उन्होंने कहा कि वास्तव में जब मैं आपको देखता हूं तो मुझे लगता है कि व्यक्ति का मूल्यांकन केवल उसकी शारीरिक बनावट से नहीं हो सकता, बल्कि उसकी सोच उसकी बुद्धिमता उसके विवेक और उसके साहस से उसकी पहचान बनती है।

सीएम ने कहा कि डॉ शकुंतला मिश्रा राष्र्टीय पुनर्वास विश्वविद्यालय पूरे प्रदेश में दिव्यांगजनों के पुनर्वास के लिए मजबूती से काम कर रहा है। यहां की खूबी यह है कि यहां आधे दिव्यांग और आधे सामान्य बच्चे हैं। अब यहां पर अभियांत्रिकी और प्रोद्योगिकी संकाय भी स्थापित होने जा रहा है। उन्होंने कहा कि हमने टेबलेट वितरण की अभिनव योजना पिछले साल शुरू की। अकेले लखनऊ में एक लाख 6151 स्मार्ट फोन और टैबलेट हम बांट चुके हैं। 868 बच्चों को हम आज स्मार्ट फोन और टैबलेट बांट रहे हैं। उन्होंने कहा कि हम आनलाइन शिक्षा के साथ परीक्षा की तैयारी के लिए और कोरोना की बीमारी चलती रही तो आनलाइन परीक्षा के लिए सॉफ्ट वेयर भी बनाएंगे।

--आईएएनएस

विकेटी/एएनएम

Share this story